CG-DPR

बाड़ी विकास कार्यक्रम के अंतर्गत स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा उत्पादित सब्जी, भाजी का उपयोग शालाओं, छात्रावासों और आंगनबाड़ी केन्द्रों में करने के निर्देश

jantaserishta.com
30 March 2022 3:15 AM GMT
बाड़ी विकास कार्यक्रम के अंतर्गत स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा उत्पादित सब्जी, भाजी का उपयोग शालाओं, छात्रावासों और आंगनबाड़ी केन्द्रों में करने के निर्देश
x

मुंगेली: कलेक्टर अजीत वसंत ने आज जिला कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभाकक्ष में साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक ली। बैठक में उन्हांेने समय सीमा के लंबित प्रकरणों को निर्धारित अवधि में निराकृत करने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर श्री वसंत ने कहा कि राज्य शासन द्वारा महिलाओं को आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने के लिए नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी जैसे अनेक महत्वाकांक्षी योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। इसके तहत स्थापित गौठानों में स्वसहायता समूह की महिलाओं द्वारा बाड़ी विकास कार्यक्रम से जुड़कर बड़ी मात्रा में पौष्टिकता युक्त साग, सब्जी का भी उत्पादन किया जा रहा है। उन्होंने उनके उत्पादों का समुचित लाभ प्रदान करने हेतु उनके उत्पादों का उपयोग छात्रावास, आश्रम, शालाओं, मध्यान्ह भोजन और आंगनबाड़ी केन्द्रों में करने हेतु संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में उन्होंने जिले में कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव हेतु 12 से 14 वर्ष के बच्चों में किए जा रहे टीकाकरण के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि 12 से 14 वर्ष के 33 हजार 993 बच्चों को टीकाकरण करने का लक्ष्य प्राप्त हुआ है। इनमें से अब तक 24 हजार 695 बच्चों का टीकाकरण किया गया है। उन्होंने शेष बच्चों को आगामी 02 दिवस के भीतर टीकाकरण करने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर श्री वसंत ने रामायण मण्डलियोें को प्रोत्साहित करने के लिए विकासखण्ड स्तर पर आयोजित प्रतियोगिता के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि रामायण मण्डलियोें को प्रोत्साहित करने के लिए 02 अप्रैल को जिला स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। इस हेतु उन्होंने आवश्यक तैयारी 02 अप्रैल के पूर्व पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। बैठक में कलेक्टर श्री वसंत ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि इस योजना में 18 से 40 वर्ष के महिला एवं पुरूष जिनकी आमदनी 15 हजार रूपए से कम हो तथा वे ईपीएफ, ईएसआईसी एवं एनपीएस योजना में शामिल नही हंै उन्हें इस योजना में शामिल किया गया है। इस योजना के तहत लोगों को 55 रूपए से 200 रूपए तक पृथक-पृथक आयु समूह के अनुसार प्रतिमाह अंशदान के रूप में जमा करना होगा। 60 वर्ष के पश्चात प्रत्येक अंशदान जमा करने वाले लोगों को 03 हजार रूपए प्रतिमाह न्यूनतम पेंशन प्राप्त होगी। इस हेतु उन्होंने बिहान स्वसहायता समूह की महिलाओं, मध्यान्ह भोेजन रसोईया, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं एवं सहायिकाओं तथा स्वास्थ्य विभाग की मितानीनों को लाभांवित करने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर श्री वसंत ने कहा कि राज्य शासन द्वारा स्लम इलाकों में रहने वाले नागरिकों के स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिए 01 नवंबर 2020 से 14 नगर पालिका निगम में इस योजना का संचालन किया जा रहा है। अब इस योजना का संचालन सभी नगरीय निकायों में भी किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री बघेल 31 मार्च को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस योजना का शुभारंभ करेंगे। इस योजना के तहत नागरिकों को उनके वार्ड में ही मुफ्त स्वास्थ्य सुविधाएं, दवाईयां और टेस्ट सुविधा उपलब्ध होगी। इस हेतु उन्होंने नगरपालिका मुंगेली के मुख्य नगरपालिका अधिकारी को आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ी व्यजनों जैसे चैसेला, चीला, ठेठरी आदि को बढ़ावा देने के लिए जिले में गढ़ कलेवा का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गढ़ कलेवा के भवन निर्माण हेतु राज्य शासन द्वारा 10 लाख और जिला खनिज न्यास संस्थान मद से 18 लाख रूपए की स्वीकृति दी गई है। उन्होंने भवन निर्माण हेतु आवश्यक निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर श्री वसंत ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का अगले माह दौरा प्रस्वावित है। इस हेतु उन्होंने जिले के सभी के अधिकारियों को अपने कर्तव्यों का निवर्हन गंभीरता से करने के निर्देश दिए। इसी तरह उन्होंने हितग्राहियों को जारी राशनकार्डों के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने राशनकार्ड हेतु प्राप्त आवेदन पत्रों का परीक्षण उपरांत संबंधितों को शीघ्र राशनकार्ड जारी करने के निर्देश दिए। इसी क्रम में उन्होंने हैंडपम्पों एवं नल जल योजना का सुचारू संचालन, खाद एवं बीज की उपलब्धता, राजस्व विभाग के लंबित प्रकरणों, लोक सेवा गारंटी अधिनियम के तहत समय सीमा के बाद लंबित प्रकरणों, कौशल्या मातृत्व योजना, गोबर खरीदी एवं भुगतान, राजीव युवा मितान क्लब का गठन, कृषकों को जारी केसीसी सहित अन्य जनकल्याणकारी योजनाओं के सुचारू संचालन एवं संपादन सुनिश्चित करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। इस अवसर पर संयुक्त कलेक्टर श्री तीर्थराज अग्रवाल, वनमण्डलाधिकारी श्री गणेश राजन, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री डी. एस. राजपूत, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती नम्रता आनंद डोंगरे, उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री नवीन भगत, सभी अनुविभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व और विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।



Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta