अन्य

एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक के वाइस प्रेजिडेंट नियुक्त हुए उर्जित पटेल

Kunti Dhruw
9 Jan 2022 12:27 PM GMT
एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक के वाइस प्रेजिडेंट नियुक्त हुए उर्जित पटेल
x
भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल को बीजिंग में आधारित फंडिंग इंस्टीट्यूशन AIIB में वाइस प्रेजिडेंट नियुक्त किया गया है.

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल को बीजिंग में आधारित फंडिंग इंस्टीट्यूशन AIIB में वाइस प्रेजिडेंट नियुक्त किया गया है. पीटीआई के मुताबिक, बैंकों के सूत्रों ने रविवार को यह जानकारी दी है. भारत एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक (AIIB) का फाउंडिंग मेंबर है. भारत का चीन के बाद इसमें सबसे बड़ा वोटिंग शेयर है. उसकी अगुवाई चीन के वित्त राज्य मंत्री Jin Liqun करते हैं. 58 साल के पटेल AIIB के पांच उपाध्यक्षों में से एक होंगे. उनका कार्यकाल तीन साल का रहेगा. उनके अगले महीने अपना पद संभाल लेने की उम्मीद है.

वे मौजूदा समय में उपाध्यक्ष D J Pandian की जगह लेंगे, जो दक्षिण एशिया, पैसेफिक आइलैंड और दक्षिण-पूर्व एशिया में AIIB की सॉवरेन और नॉन-सॉवरेन लेंडिंग के इनचार्ज हैं. Pandian ने इससे पहले गुजरात के मुख्य सचिव के तौर पर काम किया है. वे इस महीने के आखिर में भारत वापस आने वाले हैं. पटेल ने 5 सितंबर 2016 को भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के 24वें गवर्नर का कार्यभार संभाला था. उन्होंने रघुराम राजन की जगह ली थी.
पटेल ने दिसंबर 2018 से दे दिया था इस्तीफा
पटेल ने दिसंबर 2018 में निजी वजहों का हवाला देते हुए, इस्तीफा दे दिया था. उन्होंने कहा था कि उन्होंने अपने मौजूदा पद से तुरंत प्रभाव से हटने का फैसला किया है.6 सितंबर 2016 को पद संभालने से पहले वे डिप्टी गवर्नर थे. वे राजन के अंदर आरबीआई के मॉनेटरी पॉलिसी डिपार्टमेंट को देख रहे थे. पटेल को राजन का महंगाई का वॉरियर कहा जाता था. पटेल ने इससे पहले अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF), बॉस्टन कंसल्टिंग ग्रुप और रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ कई दूसरे संस्थानों में काम किया है.
पटेल का AIIB में पद संभालना महत्व रखता है क्योंकि भारत 28 प्रोजेक्ट्स के लिए 6.7 अरब डॉलर की फंडिंग प्राप्त करके इसका सबसे बड़ा लाभार्थी बनकर सामने आया है. Pandian ने यह बात शनिवार को अपने फेयरवेल भाषण में कही है. इसके अलावा AIIB एशियन डेवलपमेंट बैंक (ADB) के साथ भारत को कोरोना वैक्सीन को खरीदने के लिए दो अरब डॉलर का लोन दे रहा है. 2 अरब डॉलर के लोन में से, मनीला में आधारित ADB के 1.5 अरब डॉलर देने की उम्मीद है. और AIIB 500 मिलियन डॉलर उपलब्ध कराने पर विचार कर रहा है.
AIIB ने हाल ही में चैन्नई मेट्रो रेल सिस्टम के विस्तार के लिए 356.67 मिलियन डॉलर का लोन दिया था. वह चैन्नई शहर और उसके सबअर्ब्स के विकास के लिए कुछ दूसरे इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स की फंडिंग करने पर भी विचार कर रहा है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta