व्यापार

पेट्रोल और डीजल की कीमत पर अपडेट, जल्द ही बड़ा फैसला ले सकती है सरकार

Janta Se Rishta Admin
18 May 2022 1:14 AM GMT
पेट्रोल और डीजल की कीमत पर अपडेट, जल्द ही बड़ा फैसला ले सकती है सरकार
x

पेट्रोल और डीजल की कीमत (Petrol Diesel Price) में आज भी किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ. हालांकि, बहुत दिनों तक यह राहत नहीं मिलने वाली है, क्योंकि ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को भारी नुकसान हो रहा है. कीमत में बढ़ोतरी को लेकर सरकार असमंजस की स्थिति में है. माना जा रहा है कि बहुत जल्द सरकार इस संबंध में कुछ बड़ा फैसला ले सकती है. पिछले 42 दिनों से कीमत में किसी तरह का बदलाव नहीं हुआ है. आखिरी बार 6 अप्रैल को पेट्रोल और डीजल के दाम (Petrol Diesel latest price) में 80-80 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई थी. कीमत में बढ़ोतरी नहीं करने के कारण ऑयल मार्केटिंग कंपनियों को पेट्रोल पर प्रति लीटर 10 रुपए और डीजल पर प्रति लीटर 25 रुपए तक का नुकसान उठाना पड़ रहा है.

देश की राजधानी दिल्ली में आज पेट्रोल की कीमत (Petrol Rate) 105.41 और डीजल की कीमत (Diesel Rate) 96.67 रुपए प्रति लीटर है. मुंबई में आज एक लीटर पेट्रोल का दाम (Petrol Price Today) 120.51 रुपए और डीजल का दाम 104.77 रुपए है. दिल्ली-मुंबई के अलावा देश के दो दूसरे महानगरों की बात करें, तो कोलकाता में आज पेट्रोल का भाव 115.12 और डीजल का भाव 99.83 रुपए प्रति लीटर है. वहीं, चेन्नई में पेट्रोल की कीमत 110.85 रुपए और डीजल की कीमत 100.94 रुपए प्रति लीटर पर मौजूद है. अगर आप अपने शहर में पेट्रोल और डीजल की ताजा कीमतें देखना चाहते हैं, तो इस लिंक पर क्लिक करके चेक कर सकते हैं.

95 डॉलर के आधार पर वर्तमान में पेट्रोल-डीजल का रेट

वर्तमान में पेट्रोल-डीजल की कीमत इंटरनेशनल मार्केट में कच्चे तेल के 95 डॉलर के भाव पर आधारित है. सोमवार को इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑयल 115 डॉलर और WTI क्रूड 111 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर बंद हुआ है. भारत अपनी जरूरत का 85 फीसदी तेल आयात करता है. सबसे ज्यादा आयात मिडिल ईस्ट और अमेरिका से किया जाता है. रूस से केवल 2 फीसदी आयात किया जाता है.

केंद्र और राज्य को मिलकर कीमत में कटौती करनी चाहिए

पेट्रोल और डीजल पर टैक्स में कटौती की वकालत करते हुए, CII के अध्यक्ष संजीव बजाज ने मंगलवार को कहा कि इसे केंद्र और राज्य के बीच सहयोग के साथ किया जाना चाहिए, जिससे बढ़ती महंगाई को काबू में लाया जा सके. पीटीआई को एक इंटरव्यू में, उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल पर सरकार द्वारा टैक्स ऐसे समय में बढ़ाया गया था, जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत कम थी और उसे ठीक करना जरूरी था. बजाज ने कहा कि यह बिल्कुल साफ है कि महंगाई के पीछे एक मुख्य वजह तेल है. उन्होंने कहा कि तेल में कीमतों में बढ़ोतरी से जमीन पर पेट्रोल के दाम में इजाफे को देखा है. हमने महंगाई पर असर को देखा है और इसका तुरंत समाधान किए जाने की जरूरत है.

पाकिस्तान, श्रीलंका और चीन में भारत के मुकाबले पेट्रोल सस्ता

इधर बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda) की एक शोध रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि भारत में पेट्रोल हांगकांग, जर्मनी और ब्रिटेन जैसे देशों की तुलना में सस्ता है लेकिन चीन, ब्राजील, जापान, अमेरिका, रूस, पाकिस्तान और श्रीलंका की तुलना में महंगा है. ईंधन की कीमतों में वृद्धि मुख्य रूप से कच्चे तेल की अंतरराष्ट्रीय कीमतें बढ़ने के कारण है. इसके अलावा डॉलर के मजबूत होने से भी कच्चे तेल का आयात महंगा हो गया है. बीओबी की आर्थिक अनुसंधान रिपोर्ट में विभिन्न देशों में गत नौ मई को पेट्रोल की कीमतों का तुलनात्मक अध्ययन किया गया है. इसके लिए उस देश की प्रति व्यक्ति आय की तुलना में पेट्रोल की कीमतों को आधार बनाया गया.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta