व्यापार

Tesla की ड्राइवर लेस कार का हुआ एक्सीडेंट, दो लोगों की मौत, एलन मस्क की कंपनी ने दी सफाई

Gulabi
20 April 2021 6:32 AM GMT
Tesla की ड्राइवर लेस कार का हुआ एक्सीडेंट, दो लोगों की मौत, एलन मस्क की कंपनी ने दी सफाई
x
अमेरिका के टेक्सास में हुए एक टेस्ला कार एक्सीडेंट में दो लोगों की जान चली गई

अमेरिका के टेक्सास में हुए एक टेस्ला कार एक्सीडेंट में दो लोगों की जान चली गई. इस मामले को लेकर पुलिस ने प्रारंभिक जांच के आधार पर कहा है कि यह कार ऑटोपायलट मोड में चल रही थी. अब इसको लेकर एक और खबर आ रही है कि टेक्सास पुलिस आज टेस्ला इंक के लिए सर्च वारंट जारी कर सकती है जिससे क्रैश हुए व्हीकल के डेटा को सिक्योर किया जा सके. इस बात की जानकारी एक सीनियर ऑफिसर ने रॉयटर्स को दी है. यह फैसला एलन मस्क की कंपनी द्वारा यह बयान देने के बाद लिया गया है कि कार का ऑटोपायलट ड्राइवर सिस्टम एंगेज्ड नहीं था.


इस मामले को लेकर हैरिस काउंटी कॉन्टेबल मार्क हर्मन ने बताया कि शनिवार देर रात ह्यूस्टन के उत्तर में एक वाहन तेज गति से जा रहा था, तभी वो एक पेड़ से टकरा गया और इसमें दो लोगों की मौत हो गई. उन्होंने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चल रहा है कि Tesla की इस 2019 Model S कार के ड्राइवर सीट पर कोई भी नहीं था.

कैसे हुआ दो लोगों की मौत

हर्मन ने बताया कि उन्होंने वहा मौजूद लोगों के स्टेटमेंट लिए हैं जिसमें उन लोगों ने बताया कि वे बिना ड्राइवर के व्हीकल का टेस्ट ड्राइव कर रहे थे और अपने दोस्त को यह दिखाना चाह रहे थे कि यह अपने आप कैसे ड्राइव करती है.

टेस्ला के ऑटोपायलट फीचर की अगर बात करें तो यह एक ड्राइवर असिस्टेंस सिस्टम है जो कि ड्राइवर के कुछ टास्क को हैंडल करता है और ड्राइवर को स्टीयरिंग व्हील पर हाथ रखे बिना ड्राइविंग करने का मौका देता है. लेकिन टेस्ला का कहना है कि इस फीचर में एक्टिव ड्राइवर सुपरविजन की जरूरत होती है और यह व्हीकल को ऑटोनॉमस नहीं बनाता है.

कंपनी के सीईओ एलन मस्क ने दी सफाई

हालांकि मस्क ने अपने ट्वीट में व्हीकल के सेमी ऑटोमेटेड ड्राइविंग सॉफ्टवेयर पर लगे आरोप को खारिज कर दिया है. उन्होंने कहा कि अब तक रिकवर किए गए डेटा के अनुसार ऑटोपायलट इनेबल नहीं था और इस कार ने फुल-सेल्फ ड्राइविंग की खरीदारी नहीं की थी.

मस्क ने आगे कहा कि स्टैंडर्ड ऑटोपायलट में लेन लाइन्स के टर्न ऑन होने की जरूरत होती है जो कि इस स्ट्रीट पर नहीं है. इसका मतलब यह है कि ऑटोपायलट को इनेबल करने के लिए व्हीकल के कैमरा द्वारा रोड मार्कर्स को कैप्चर करना जरूरी होत है जो कि एक्सीडेंट हुए रोड पर नहीं थे.

टेस्ला के पास कार से "रेग्यूलर इंटरवल" पर सर्वर को मिलने वाले ऑपरेशनल और डायग्नोस्टिक डेटा का एक्सेस है जिसे पुलिस ने हासिल कर लिया है. अब यह स्पष्ट नहीं है कि गंभीर रूप से जले हुए वाहन में जांचकर्ता इवेंट डेटा रिकॉर्डर से सीधे डेटा प्राप्त कर पाएंगे या नहीं.

बता दें कि इस घटना से कुछ घंटे पहले अमेरिकी दिग्गज ईवी निर्माता टेस्ला प्रमुख एलन मस्क ने एक ट्वीट में साफ किया था कि ऑटोपायलट के साथ टेस्ला के पहले वाहनों की तुलना में अब दुर्घटना की संभावना 10 गुना तक कम हो गई हैं.

टेस्ला पर पहले से 27 मामलों की हो रही है जांच

आपको बता दें कि इस मामले की जांच व्हीकल सेफ्टी को रेग्यूलेट करने वाली एजेंसी नेशनल हाइवे ट्रैफिक सेफ्टी एडमिनिस्ट्रेशन (NHTSA) द्वारा की जाएगी. यह टेस्ला कार के एक्सीडेंट का 28वां मामला है. NHTSA ने रॉयटर्स को बताया कि पिछले महीने उन्होंने टेस्ला व्हीकल्स के क्रैश के 27 मामलों को ओपन किया है जिसमें से 23 अभी भी एक्टिव हैं और ऐसा माना जा रहा है कि ये मामले ऑटोपायलट को लेकर ही हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta