व्यापार

पर्सनल लोन या PPF के बदले उठाएं लोन, जानिए फायदे

Bhumika Sahu
24 Oct 2021 4:03 AM GMT
पर्सनल लोन या PPF के बदले उठाएं लोन, जानिए फायदे
x
Personal loan Vs PPF Loan: अगर आपको कम समय के लिए लोन चाहिए और लोन अमाउंट कम है तो पीपीएफ के बदले लोन उठाया जा सकता है. लंबी अवधि के लिए और ज्यादा लोन के लिए पर्सनल लोन बेहतर विकल्प है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। जब आपको इमरजेंसी में पैसे की जरूरत होती है तो पर्सनल लोन बहुत काम आता है. यह पूरी तरह कोलैट्रल फ्री लोन होता है. फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स भी मानते हैं कि कितनी भी प्लानिंग क्यों ना कर ली जाए, इमरजेंसी में आपको पैसे की जरूरत होगी ही. इस परिस्थिति से कोई नहीं बच पाता है. कोलैट्रल फ्री होने के कारण पर्सनल लोन पर इंट्रेस्ट रेट ज्यादा होता है.

अगर आपको छोटे अमाउंट की जरूरत है तो आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी PPF के बदले मिलने वाले लोन का भी फायदा उठा सकते हैं. अगर आपको PPF पर मिलने वाले लोन और पर्सनल लोन में किसी एक को चुनना हो तो आपके लिए क्या बेहतर होगा, इस आर्टिकल में इसके बारे में विस्तार से समझते हैं.
पर्सनल लोन ज्यादा आसानी से उपलब्ध होता है
पर्सनल लोन आसानी से मिल जाता है. कई बार यह प्री-अप्रूव्ड होता है. अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो बैंक जम्बो लोन ऑफर करता है. यह प्रक्रिया कुछ मिनटों का होता है. अगर आपका पुराना पर्सनल लोन चल रहा है तो भी बैंक आपको समय-समय पर इसे टॉप-अप कराने का ऑफर देता है. इस लिहाज से यह लोन ज्यादा आसानी से उपलब्ध होता है. PPF के अगेंस्ट लोन की बात करें तो इसकी तमाम शर्तें हैं. PPF अकाउंट पर तीसरे और छठे साल लोन उठाया जा सकता है.
लोन अमाउंट को लेकर क्या परेशानी है
लोन अमाउंट की बात करें तो पर्सनल लोन की कोई लिमिट नहीं है. यह आपके सिबिल स्कोर, आपकी इनकम और बैंक की क्षमता पर निर्भर करता है. वहीं, PPF पर लोन मिलने की एक लिमिट होती है. यह अधिकतम जमा राशि का 25 फीसदी होगा. इसके अलावा भी लोन अमाउंट को लेकर कई तरह के नियम हैं.
PPF का लोन रीपेमेंट 3 सालों में
लोन अवधि की बात करें तो पर्सनल लोन 6 साल तक की अवधि के लिए लिया जा सकता है. पब्लिक प्रोविडेंट फंड के बदले मिलने वाला लोन 3 सालों के भीतर चुकाना होगा. इंट्रेस्ट रेट की बात करें तो पर्सनल लोन अन-सिक्यॉर्ड होता है. ऐसे में इसका इंट्रेस्ट रेट 10-20 फीसदी या उससे भी ज्यादा हो सकता है.
PPF लोन का इंट्रेस्ट रेट 8.10 फीसदी
PPF के बदले मिलने वाला लोन का इंट्रेस्ट 1 फीसदी होता है. हालांकि, जब तक लोन रीपेमेंट किया जाता है, यह अकाउंट किसी तरह का इंट्रेस्ट अर्न नहीं करता है. वर्तमान में PPF पर इंट्रेस्ट रेट 7.10 फीसदी है. इस तरह नेट इंट्रेस्ट रेट 8.10 फीसदी होता है.
कम समय के लिए चाहिए छोटा अमाउंट तो PPF बेहतर
ऐसे में अगर आपको छोटे अमाउंट की जरूरत है तो PPF के बदले लोन उठाया जा सकता है. अगर लोन अमाउंट ज्यादा है और यह ज्यादा समय के लिए चलेगा तो पर्सनल लोन ज्यादा बेहतर विकल्प है.
जब आपको इमरजेंसी में पैसे की जरूरत होती है तो पर्सनल लोन बहुत काम आता है. यह पूरी तरह कोलैट्रल फ्री लोन होता है. फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स भी मानते हैं कि कितनी भी प्लानिंग क्यों ना कर ली जाए, इमरजेंसी में आपको पैसे की जरूरत होगी ही. इस परिस्थिति से कोई नहीं बच पाता है. कोलैट्रल फ्री होने के कारण पर्सनल लोन पर इंट्रेस्ट रेट ज्यादा होता है.

अगर आपको छोटे अमाउंट की जरूरत है तो आप पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी PPF के बदले मिलने वाले लोन का भी फायदा उठा सकते हैं. अगर आपको PPF पर मिलने वाले लोन और पर्सनल लोन में किसी एक को चुनना हो तो आपके लिए क्या बेहतर होगा, इस आर्टिकल में इसके बारे में विस्तार से समझते हैं.

पर्सनल लोन ज्यादा आसानी से उपलब्ध होता है

पर्सनल लोन आसानी से मिल जाता है. कई बार यह प्री-अप्रूव्ड होता है. अगर आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो बैंक जम्बो लोन ऑफर करता है. यह प्रक्रिया कुछ मिनटों का होता है. अगर आपका पुराना पर्सनल लोन चल रहा है तो भी बैंक आपको समय-समय पर इसे टॉप-अप कराने का ऑफर देता है. इस लिहाज से यह लोन ज्यादा आसानी से उपलब्ध होता है. PPF के अगेंस्ट लोन की बात करें तो इसकी तमाम शर्तें हैं. PPF अकाउंट पर तीसरे और छठे साल लोन उठाया जा सकता है.

लोन अमाउंट को लेकर क्या परेशानी है

लोन अमाउंट की बात करें तो पर्सनल लोन की कोई लिमिट नहीं है. यह आपके सिबिल स्कोर, आपकी इनकम और बैंक की क्षमता पर निर्भर करता है. वहीं, PPF पर लोन मिलने की एक लिमिट होती है. यह अधिकतम जमा राशि का 25 फीसदी होगा. इसके अलावा भी लोन अमाउंट को लेकर कई तरह के नियम हैं.

PPF का लोन रीपेमेंट 3 सालों में

लोन अवधि की बात करें तो पर्सनल लोन 6 साल तक की अवधि के लिए लिया जा सकता है. पब्लिक प्रोविडेंट फंड के बदले मिलने वाला लोन 3 सालों के भीतर चुकाना होगा. इंट्रेस्ट रेट की बात करें तो पर्सनल लोन अन-सिक्यॉर्ड होता है. ऐसे में इसका इंट्रेस्ट रेट 10-20 फीसदी या उससे भी ज्यादा हो सकता है.

PPF लोन का इंट्रेस्ट रेट 8.10 फीसदी

PPF के बदले मिलने वाला लोन का इंट्रेस्ट 1 फीसदी होता है. हालांकि, जब तक लोन रीपेमेंट किया जाता है, यह अकाउंट किसी तरह का इंट्रेस्ट अर्न नहीं करता है. वर्तमान में PPF पर इंट्रेस्ट रेट 7.10 फीसदी है. इस तरह नेट इंट्रेस्ट रेट 8.10 फीसदी होता है.

कम समय के लिए चाहिए छोटा अमाउंट तो PPF बेहतर

ऐसे में अगर आपको छोटे अमाउंट की जरूरत है तो PPF के बदले लोन उठाया जा सकता है. अगर लोन अमाउंट ज्यादा है और यह ज्यादा समय के लिए चलेगा तो पर्सनल लोन ज्यादा बेहतर विकल्प है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta