व्यापार

SBI ने करोड़ों ग्राहकों को किया अलर्ट, पैसा भेजने से पहले हमेशा मोबाइल नंबर, नाम और UPI ID वेरिफाई करें

Bhumika Sahu
21 Feb 2022 3:27 AM GMT
SBI ने करोड़ों ग्राहकों को किया अलर्ट, पैसा भेजने से पहले हमेशा मोबाइल नंबर, नाम और UPI ID वेरिफाई करें
x
बैंक ने कहा है कि अगर आपको किसी भी व्यक्ति की तरफ से कोई QR कोड मिलता है तो उसे गलती से भी स्कैन न करें. ऐसा करने से आपके खाते से पैसा गायब हो सकता है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। देश में डिजिटाइजेशन के साथ ऑनलाइन फ्रॉड के मामले भी काफी तेजी से बढ़ी है. पिछले कुछ वर्षों में सबसे ज्यादा मामले मोबाइल के क्यूआर कोड (QR Code) से फ्रॉड के आए हैं. जालसाज आजकल इस तकनीक के जरिए लोगों के बैंक खाते से पैसा उड़ा रहे हैं. क्यूआर कोड फ्रॉड के बढ़ते मामले को देखते हुए देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (State Bank of India) ने अपने 44 करोड़ से अधिक ग्राहकों को सावधान किया है. बैंक ने कहा है कि अगर आपको किसी भी व्यक्ति की तरफ से कोई QR कोड मिलता है तो उसे गलती से भी स्कैन न करें. ऐसा करने से आपके खाते से पैसा गायब हो सकता है.

SBI ने ट्वीट के जरिए ग्राहकों को अलर्ट किया है. बैंक ने अपने ट्वीट में कहा, पैसे प्राप्त करने के लिए आपको क्यूआर कोड स्कैन करने की आवश्यकता नहीं है. हर बार UPI पेमेंट करते समय सेफ्टी टिप्स को याद रखें.
क्या होता है QR कोड?
आपको बता दें कि क्यूआर कोड के भीतर कुछ एनक्रिप्टेड इनफॉर्मेशन होती है. कोई फोन नंबर हो सकता है, किसी वेबसाइट का लिंक हो सकता है, किसी ऐप का डाउनलोड लिंक हो सकता है. इस इनफॉर्मेशन को डिक्रिप्ट करने के लिए उसको स्कैन करना होता है. स्कैन करते ही वो कोड साधारण टेक्स्ट के रूप में आपके सामने खुल जाता है.
कैसे होता है QR कोड से फ्रॉड?
SBI कहा कि QR कोड का इस्तेमाल हमेशा पेमेंट करने के लिए होता है, न कि पेमेंट प्राप्त करने के लिए. इसलिए पेमेंट पाने करने के नाम पर कभी भी QR कोड स्कैन न करें. इससे आपका अकाउंट खाली हो सकता है. SBI के मुताबिक, जब आप एक QR कोड स्कैन करते हैं तो पैसे नहीं मिलते हैं. सिर्फ मैसेज आता है कि बैंक अकाउंट से पैसे निकल गए हैं.
फॉलो करें ये सेफ्टी टिप्स
SBI ने कहा, कोई भी भुगतान करने से पहले यूपीआई आईडी वेरिफाई करें. बैंक ने कहा, यूपीआई पेमेंट्स करते समय कुछ सुरक्षा नियमों का पालन करना चाहिए.
>> UPI पिन केवल पैसे के ट्रांसफर के लिए जरूरी है, प्राप्त करने के लिए नहीं. >> पैसा भेजने से पहले हमेशा मोबाइल नंबर, नाम और UPI ID वेरिफाई करें. >> UPI PIN को कभी भी किसी के साथ शेयर न करें. यूपीआई पिन को भ्रमित न करें. >> फंड ट्रांसफर के लिए स्कैनर का इस्तेमाल सही तरीके से किया जाना चाहिए. >> आधिकारिक स्रोतों के अलावा अन्य से समाधान न मांगें. >> किसी भी भुगतान या तकनीकी मुद्दों के लिए ऐप के हेल्प सेक्शन का उपयोग करें और किसी भी विसंगति के मामले में बैंक के शिकायत समाधान पोर्टल https://crcf.sbi.co.in/ccf/ के माध्यम से समाधान प्राप्त करें.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta