व्यापार

छोड़ दें ऐसी लापरवाही, हर साल चुकाने पड़ सकते हैं 12000 रुपए

Bhumika Sahu
3 Jun 2022 4:57 AM GMT
छोड़ दें ऐसी लापरवाही, हर साल चुकाने पड़ सकते हैं 12000 रुपए
x
उसी तरह से हर साल आपकी जेब से 12 हजार रुपए जा रहे हैं।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। नई दिल्लीः क्या आप भी रात भर फोन को चार्ज में लगा छोड़ देते हैं? टीवी रिमोट से बंद किया और स्टैंडबाय मोड पर रख देते हैं? क्या हर वक्त चार्जर ऑन रहता है? फिर तो पक्का है कि आप हर साल लगभग 12000 रुपये इसके पीछे खर्च कर रहे हैं। इसी पर आधारित एक फिल्म भी बनी है। नाम है, बत्ती गुल मीटर चालू। जिस तरह फिल्म में दिखाया गया था कि मीटर में लगे एक छोटी सी एलईडी लाइट से बिजली विभाग को करोड़ों को फायदा होता है। उसी तरह से हर साल आपकी जेब से 12 हजार रुपए जा रहे हैं। हम यहां कोई फिल्मी बात नहीं कर रहे हैं। यह एक रिसर्च में सामने आया है।

रिसर्च में सामने आया झकझोर देनेवाला सच
टीवी से लेकर माइक्रोवेव और वाई-फाई राउटर से लेकर गेमिंग कंसोल की टिमटिमाती एलईडी लाइट आपका काफी नुकसान करा रही है। स्विच ऑफ किए बिना छोड़े गए इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को लेकर बाकायदा एक रिसर्च की गई है और इस बात को वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (WEF) से लेकर कई और संस्थाओं ने प्रमुखता से उठाया है। British Gas जो यूनाइटेड किंगडम की एक प्रमुख एनर्जी कंपनी है, उसकी सहयोगी सेंट्रिका (Centrica) ने इसपर रिसर्च की है। रिसर्च के मुताबिक, स्टैंडबाय मोड में रहते हुए कई प्रोडक्टस जो थोड़ी-थोड़ी एनर्जी चूसते हैं। उसका सालभर का बिल करीब 11971 रुपये होता है। कंपनी ने तो इन डिवाइस का नाम ही वैंपायर डिवाइस (vampire devices) रख दिया है।
स्टैंडबाय मोड में भी डिवाइस लगा रहा है चूना
आपको स्टैंडबाय मोड तो पता ही होगा। आप अक्सर टीवी को रिमोट से बंद करके सो जाते हैं या कहीं चले जाते हैं। उसे स्वीच से बंद नहीं करते हैं। आपको लगता है टीवी तो बंद हो गई है। लेकिन टीवी ऑन रहने पर हरे रंग की बत्ती जलती है। रिमोट से बद करने के बाद लाल रंग की बत्ती जलती रहती है। इसी को स्टैंडबाय मोड कहते हैं। ऐसा अकेले टीवी के साथ नहीं बल्कि वाई-फाई राउटर से लेकर माइक्रोवेव और दूसरे कई डिवाइस के साथ होता है। यह हम और आपकी कहानी नहीं है। यह लगभग सभी के आदम में आ चुका है। वह लाल बत्ती भी किसी बिजली से ही चलती है। बिजली खपत तो होती ही है।
हर जगह भरे पड़े हैं ऐसे डिवाइस
स्टैंडबाय मोड में रहते हुए डिवाइस ज्यादा एनर्जी की खपत नहीं करते हैं। लेकिन आप अपने आसपास नजर डालेंगे तो पता चलेगा कि हमारे घर और ऑफिस में हर जगह ऐसे प्रोडक्ट हैं, जिनके डिस्प्ले पैनल पर हरी या लाल बत्ती जलती ही रहती है। रिसर्च में भी घर और ऑफिस में इस्तेमाल होने वाले 13 डिवाइस को शामिल किया गया, लेकिन हम सभी को पता है इनकी संख्या इससे कहीं ज्यादा होती है। रिसर्च विदेश में हुई है लेकिन हमारी आदतें भी लगभग ऐसी ही है। रिसर्च में जो टॉप फाइव में डिवाइस हैं, उनमें वाई-फाई राउटर, एलईडी टीवी, डिश टीवी का सेट टॉप बॉक्स, माइक्रोवेव और गेमिंग कंसोल है। इसके अलावा मोबाइल, लैपटॉप, स्मार्ट स्पीकर्स से लेकर ऑटोमेशन डिवाइस तो है ही। इसे भी हम जल्दी बंद नहीं करते हैं।
ये आदतें बचा सकती हैं आपका रुपया
टीवी जैसे डिवाइस को उपयोग के बाद स्वीच से बंद करें।
रात में सोते वक्त सारे स्वीच को बंद करना ना भूलें
नया डिवाइस खरीदते वक्त एनर्जी रेटिंग देखें। जितनी ज्यादा रेटिंग होगी उतना बेहतर होगा।
गेमिंग कंसोल, टीवी, लैपटॉप, डिश टीवी जैसे चुनिंदा डिवाइस को एक एक्सटेंशन से जोड़ें, ताकि सब एक बार में बंद हो जाए।
एनर्जी बचानेवाले बल्ब लगाएं।
बच्चों में आदत डालें कि उपयोग के बाद सारे डिवाइस को स्वीच से बंद करें।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta