व्यापार

इन कर्मचारियों पर पड़ सकता है आयकर विभाग का छापा

Khushboo Dhruw
8 Aug 2023 2:09 PM GMT
चांदनी रात में आयकर नोटिस: आयकर विभाग ने हाल के दिनों में कई करदाताओं को आयकर नोटिस जारी किया है। आईटी विभाग उन कर्मचारियों पर भी नजर रख रहा है, जिन्होंने अपनी नौकरी के अलावा चांदनी से कमाई की है और आयकर रिटर्न में इसकी घोषणा नहीं की है। विभाग ने वित्तीय वर्ष 2019-2020 और 2020-2021 के लिए नोटिस जारी किया है। जिन कर्मचारियों को यह नोटिस भेजा गया है उनमें से कई ऐसे हैं जिनकी चांदनी से होने वाली कमाई उनकी नियमित सैलरी से भी ज्यादा है। गौरतलब है कि एक साथ एक से अधिक कंपनी में काम करना मूनलाइटिंग कहलाता है.
कई आईटी पेशेवर अपना वेतन छिपाते हैं
इकोनॉमिक टाइम्स में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, चांदनी के जरिए कमाई करने वाले ज्यादातर लोग आईटी सेक्टर, अकाउंटिंग और मैनेजमेंट प्रोफेशनल्स हैं। ऐसे कई लोग हैं जिनके खाते में विदेश से पैसा ट्रांसफर हुआ है, लेकिन उन्होंने आयकर रिटर्न दाखिल करते समय केवल अपने नियमित वेतन पर ही कर का भुगतान किया है। साल 2019 से 2021 के बीच ऐसे मामले सबसे ज्यादा देखे गए हैं.
इस दौरान आयकर विभाग ने 1,100 से ज्यादा ऐसे कर्मचारियों को नोटिस जारी किया है, जिन्होंने चांदनी से हुई कमाई पर टैक्स नहीं चुकाया है. खास बात यह है कि चांदनी रात के जरिए कमाई करने वाले ज्यादातर कर्मचारियों की जानकारी आयकर विभाग को उन कंपनियों ने दी है, जिनमें वे काम कर रहे हैं। ऐसे में आईटी विभाग ने विदेशी लेनदेन पर नजर रखकर ऐसे लोगों का आसानी से पता लगा लिया है।
कोरोना महामारी के दौरान चांद की रोशनी करने वालों की संख्या बढ़ गई है
गौरतलब है कि, कोरोना लॉकडाउन के दौरान ज्यादातर कंपनियों ने कर्मचारियों को घर से काम करने की सुविधा दी थी. ऐसे में लोग चांदनी के जरिए घर बैठे अच्छी कमाई कर रहे थे. वह अपनी कंपनी के साथ कई अन्य प्रोजेक्ट्स पर काम कर रहे थे. सबसे ज्यादा चमकने वाले लोग आईटी सेक्टर में पाए जाते हैं। चांदनी के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए विप्रो, इंफोसिस, टीसीएस आदि कई कंपनियों ने बड़े पैमाने पर कार्रवाई की और कई लोगों को नौकरी से निकाल दिया।
Next Story