व्यापार

WhatsApp पर ग्रुप एडमिन हैं तो खुद को खलीफा न समझें, इन 5 कामों को बिल्‍कुल करने से बचें

Tulsi Rao
21 Jan 2022 6:32 AM GMT
WhatsApp पर ग्रुप एडमिन हैं तो खुद को खलीफा न समझें, इन 5 कामों को बिल्‍कुल करने से बचें
x
वॉट्सएप का इस्तेमाल भारत में तेजी से बढ़ गया है. कोविड महामारी के बाद से ही ऑनलाइन क्लासेस और ऑफिस के काम के लिए वॉट्सएप का सहारा लिया जा रहा है. वॉट्सएप पर कई ग्रुप्स बना दिए जाते हैं. जैसे परिजनों का, दोस्तों का और ऑफिस का

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। एडमिन की जिम्मेदारी है कि कोई भी ग्रुप में देश विरोधी कंटेंट शेयर न करे. इससे ग्रुप एडमिन को जेल भी हो सकती है. उत्तर प्रदेश के बागपत में एक शख्स (ग्रुप एडमिन) को इसी के चलते गिरफ्तार किया गया था.

2. न शेयर करें पर्सनल वीडियो या फोटो
वॉट्सएप ग्रुप पर बिनी इजाजत के किसी की भी पर्सनल फोटो या वीडियो शेयर न करें. यह अपराध के दायरे में आता है. इस पर कार्रवाई भी हो सकती है. फिर चाहे वो एडमिन हो या कोई और.
3. न शेयर करें अश्लील कंटेंट
ग्रुप में अश्लील कंटेंट शेयर करना अपराध के दायरे में आता है. चाइल्ड पोर्नोग्राफी, देह व्यापार से जुड़े मैसेज शेयर करना अपराध है और ऐसा करने पर यूजर को जेल की सजा का प्रावधान है.
4. न शेयर करें हिंसा भड़काने देने वाले पोस्ट
ग्रुप पर अगर कोई धर्म का अपमान करने वाला वीडियो या कोई पोस्ट करता है, तो उसे हिंसा भड़काने के मामले में पुलिस गिरफ्तार कर सकती है.
5. फेक न्यूज भी न करें पोस्ट
देखा जाता रहा है कि वॉट्सएप पर कुछ भी लिखकर पोस्ट कर देता है और उसे सर्कुलेट कर दिया जाता है. इसको लेकर एक कानून भी बना है, जिसके तहत फर्जी न्यूज या फेक न्यूज चलाने वालों के खिलाफ अगर कोई शिकायत करता है तो अकाउंट को बंद कर दिया जाता है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta