व्यापार

हीरो मोटोकॉर्प पर सरकारी संस्थाओं ने जांच की शुरू

Khushboo Dhruw
9 Aug 2023 6:02 PM GMT
हीरो मोटोकॉर्प पर सरकारी संस्थाओं ने जांच की शुरू
x
भारत में पिछ्ले कुछ सालों के दौरान बिजनेसों की संख्या में काफी तेजी से बढ़ोत्तरी हुई है. बिजनेसों में बढ़ोत्तरी होने के साथ-साथ नियमों और कानूनों में बदलाव भी किया जा रहा है और अब सरकारी संस्थाएं काफी करीबी रूप से कंपनीयों पर नजर रखे हुए हैं. हाल ही में हीरो मोटोकॉर्प (Hero MotoCorp) पर भी सरकारी संस्थाओं ने जांच शुरू की है. आइए जानते हैं क्या है पूरा मामला?
क्या है जांच की वजह?
भारतीय संस्थाएं टैक्स संबंधित आरोपों को ध्यान में रखकर मोटरसाइकिल निर्माता कंपनी हीरो मोटोकॉर्प की जांच कर रही हैं. रिपोर्ट्स की मानें तो कंपनी पर आरोप है कि एक वेंडर के साथ मिलकर कंपनी ने 90 करोड़ रुपयों का नकली खर्च दिखाया है. आरोप है कि कंपनी को अपने वेंडर Salt Experiences, द्वारा दिखाए गए इस नकली खर्च की बदौलत टैक्स क्रेडिट प्राप्त हुआ और इसकी मदद से कंपनी ने लगभग 16 करोड़ रुपयों के टैक्स का गबन किया है.
ED ने मारा था छापा
कंपनी के एक प्रवक्ता ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि कंपनी पर फिलहाल किसी प्रकार की कोई जांच नहीं चल रही है. प्रवक्ता ने इसके अलावा कुछ और नहीं कहा है और माना जा रहा है कि कंपनी पर लगाये गए आरोपों की जांच DGGI (डायरेक्टरेट जनरल ऑफ गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स इंटेलिजेंस) द्वारा की जा रही है. आपको बता दें कि हाल ही में ED (प्रवर्तन निदेशालय) द्वारा एक अलग मामले के तहत हीरो मोटोकॉर्प के शेयरहोल्डर पवन मुंजल के 12 ठिकानों पर छापेमारी की थी. इस छापेमारी के दौरान संपत्ति के रूप में 3 मिलियन डॉलर्स की राशि जब्त की थी.
MCA भी कर रहा जांच
कुछ रिपोर्ट्स में यह दावा भी किया गया है कि Salt Experiences द्वारा DGGI को टैक्स गबन के मामले में 12 करोड़ रुपयों का भुगतान किया गया था. DGGI द्वारा की जा रही जांच की निगरानी ED, MCA (Ministry Of Corporate Affairs) जैसी अन्य संस्थाओं के द्वारा भी की जा रही है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि MCA द्वारा भी हीरो मोटोकॉर्प और Salt Experiences के रिश्ते की जांच की जा रही है.
Next Story