व्यापार

कैबिनेट मीटिंग में ऐलान संभव, सरकार का बड़ा तोहफा टेलीकॉम कंपनियों को आज मिल सकता है, जानिए

Bhumika Sahu
15 Sep 2021 4:21 AM GMT
कैबिनेट मीटिंग में ऐलान संभव, सरकार का बड़ा तोहफा टेलीकॉम कंपनियों को आज मिल सकता है, जानिए
x
Cabinet Meeting For Telecom Sector: टेलीकॉम सेक्टर के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आज कैबिनेट की अहम बैठक में राहत पैकेज का ऐलान किया जा सकता है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। टेलीकॉम सेक्टर अभी संकट के दौर से गुजर रहा है और माना जा रहा है कि सरकार इस सेक्टर को संकट से उभारने के लिए कोई कदम उठाया जा सकता है. दरअसल, बुधवार यानी आज कैबिनेट की एक अहम बैठक होने वाली है, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में होने वाली है. साथ ही बताया जा रहा है कि इस बैठक में टेलीकॉम सेक्टर को राहत देने के लिए राहत पैकेज का ऐलान किया जा सकता है और स्पेक्ट्रम भुगतान को लेकर भी अहम फैसले लिए जा सकते हैं.

बता दें कि अगर सरकार स्पेक्ट्रम भुगतान के समय पर रोक लगा देती है तो इससे टेलीकॉम कंपनियों को काफी फायदा हो सकता है. साथ ही इससे उन कंपनियों को ज्यादा फायदा होगा या कुछ दिन के लिए राहत मिल जाएगी, जिन्हें पिछला बकाया चुकाना है. दरअसल, कई कंपनियां ऐसी हैं, जिनका हजारों करोड़ रुपये अभी बाकी है और कंपनियों को इसका भुगतान किया जाना है.
सरकार क्या कर सकती है बड़े ऐलान?
कई रिपोर्ट्स के अनुसार, सरकार की ओर से जारी किए जाने वाले राहत पैकेज में टैक्स भुगतान में नरमी भी शामिल हो सकती है. टेलीकॉम सेक्टर को स्पेक्ट्रम के लिए किश्त भुगतान में एक साल के मोरेटोरियम यानी स्थगन की सुविधा दे सकती है. साथ ही जिन टेलीकॉम कंपनियों को अप्रैल 2022 तक स्पेक्ट्रम फीस का भुगतान करना था, केंद्र सरकार ने इसके लिए लगातार टेलीकॉम कंपनियों से बातचीत की है. अब माना जा रहा है कि जल्द ही इन्हें लेकर फैसला लिया जा सकता है.
इसके अलावा भी स्पेक्ट्रम छूट और बैंक गारंटी घटाने पर भी निर्णय लिया जा सकता है. साथ ही AGR मामले में भी रियायत की संभावना है. अब देखना है कि सरकार टेलीकॉम सेक्टर की कंपनियों को किस तरह से मदद पहुंचा सकती है.
50 हजार करोड़ से ज्यादा बकाया
ब्रिटेन की दूरसंचार कंपनी की भारतीय इकाई वोडाफोन इंडिया और बिड़ला की दूरसंचार कंपनी आइडिया सेल्यूलर लिमिटेड के विलय से वोडाफोन आइडिया कंपनी अस्तित्व में आई. कंपनी पर सरकार का 50,400 करोड़ रुपए का विभिन्न सांविधिक कार्यों का बकाया है. वहीं, वोडाफोन आइडिया इस समय बुरे दौर से गुजर रही है.
31 मार्च 2021 तक के डेटा के मुताबिक, कंपनी पर 1 लाख 80 हजार करोड़ से ज्यादा का कर्ज है. इसमें 96270 करोड़ रुपए करीब स्पेक्ट्रम चार्जेज के हैं. बैंकों का बकाया 23 हजार करोड़ के करीब और AGR बकाया 58254 करोड़ रुपए है. एजीआर बकाए में कंपनी ने अभी तक केवल 7854 करोड़ का ही भुगतान किया है. अभी भी कंपनी को 50 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा जमा करने हैं.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it