खेल

इंग्लैंड ने शर्मनाक रिकॉर्ड बनाकर की बांग्लादेश की बराबरी, बोलैंड ने रचा इतिहास

Tulsi Rao
28 Dec 2021 4:12 AM GMT
इंग्लैंड ने शर्मनाक रिकॉर्ड बनाकर की बांग्लादेश की बराबरी, बोलैंड ने रचा इतिहास
x
इससे पहले इंग्लैंड के पहली पारी के 185 रनों के जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने 267 रन बनाकर 82 रन की बढ़त ले ली थी

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। ऑस्ट्रेलिया की धरती पर इंग्लैंड का बुरा सपना खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है. कंगारुओं ने एशेज 2021 के तीसरे टेस्ट मैच में इंग्लैंड को पारी और 14 रनों से हराते हुए 5 मैचों की सीरीज में 3-0 से अजेय बढ़त हासिल कर ली है. ऑस्ट्रेलिया ने एशेज सीरीज पर कब्जा कर लिया है. मेलबर्न में खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाजों ने इंग्लैंड की टीम को दूसरी पारी में 68 रनों पर ही ढेर कर दिया था. इससे पहले इंग्लैंड के पहली पारी के 185 रनों के जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने 267 रन बनाकर 82 रन की बढ़त ले ली थी.

इंग्लैंड ने बांग्लादेश के इस शर्मनाक रिकॉर्ड की बराबरी की
इंग्लैंड ने इस हार के साथ ही टेस्ट क्रिकेट में एक बहुत ही शर्मनाक रिकॉर्ड बनाया है. एक साल में सबसे ज्यादा टेस्ट मैच हारने के मामले में इंग्लैंड ने बांग्लादेश के अनचाहे रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है. इस साल टेस्ट क्रिकेट में यह इंग्लैंड की 9वीं हार थी. बांग्लादेश ने साल 2003 में 9 टेस्ट मैच गंवाए थे और 18 साल बाद इंग्लैंड ने बांग्लादेश के इस शर्मनाक रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है.
इंग्लैंड को इस साल अपनी धरती पर भारत से भी दो टेस्ट मैचों में हार का सामना करना पड़ा है. इस साल टीम इंडिया इंग्लैंड के दौरे पर गई थी. 5 मैचों की टेस्ट सीरीज में भारत 2-1 से बढ़त बना चुका था, लेकिन आखिरी टेस्ट मैच कोविड-19 के चलते स्थगित करना पड़ा था. ऑस्ट्रेलिया में इंग्लैंड टीम के प्रदर्शन की बात करें, तो यह टीम पिछले 13 टेस्ट मैचों में एक भी मैच नहीं जीत पाई है.
इंग्लैंड की हुई बुरी हालत
अपना पहला टेस्ट खेल रहे तेज गेंदबाज स्कॉट बोलैंड ने 7 रन देकर 6 विकेट चटकाए जिसकी मदद से ऑस्ट्रेलिया ने तीसरे एशेज टेस्ट के तीसरे ही दिन लंच से पहले इंग्लैंड को एक पारी और 14 रन से शिकस्त देकर एशेज सीरीज में 3-0 की विजयी बढ़त बना ली. अपने कल के स्कोर चार विकेट पर 31 रन से आगे खेलते हुए इंग्लैंड की टीम 68 रन पर आउट हो गई. इससे पहले इंग्लैंड के पहली पारी के 185 रन के जवाब में ऑस्ट्रेलिया ने 267 रन बनाकर 82 रन की बढ़त ले ली थी.
बेन स्टोक्स को पांचवें ही ओवर में मिशेल स्टार्क ने बोल्ड कर दिया. 32 वर्ष के बोलैंड ने पहले ओवर में जॉनी बेयरस्टो को पवेलियन भेजा. इसके बाद दुनिया के दूसरे नंबर के टेस्ट बल्लेबाज जो रूट (28) दूसरे ओवर में उनका शिकार हुए. मार्क वुड और ओली रोबिनसन उनके तीसरे ओवर में आउट हुए और दोनों खाता भी नहीं खोल सके थे. कैमरन ग्रीन ने जेम्स एंडरसन को बोल्ड करके 27.4 ओवर में इंग्लैंड की दूसरी पारी का अंत कर दिया.
बोलैंड ने रचा इतिहास
बोलैंड ने मैच में 55 रन देकर सात विकेट लिए. ऑस्ट्रेलियाई पुरूष टीम के लिए टेस्ट खेलने वाले वह दूसरे देशज खिलाड़ी हैं. उन्हें इस प्रदर्शन के लिए प्लेयर आफ द मैच का जॉनी मुलाग पदक दिया गया. यह पुरस्कार 1868 में इंग्लैंड का दौरा करने वाली ऑस्ट्रेलिया की देशज टीम के सम्मान में है. ऑस्ट्रेलिया के कप्तान पैट कमिंस ने कहा कि उनकी टीम सीरीज 5-0 से जीतने की कोशिश करेगी.
पैट कमिंस ने कहा,'एशेज श्रृंखला की आपके टेस्ट करियर पर गहरी छाप होती है और यह अपनी पहचान पुख्ता करने की शुरुआत का मौका है.' दूसरी ओर इंग्लैंड के कप्तान रूट ने कहा,'हमें मजबूती से वापसी करके अगले दो मैच जीतने की कोशिश करनी होगी.' इससे पहले दोनों टीमों के खिलाड़ियों के रात कोरोना टेस्ट होने के बाद ही तीसरे दिन का खेल शुरू हुआ. क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने कहा, 'सारे नतीजे नेगेटिव आए हैं.' दूसरे दिन सोमवार को इंग्लैंड टीम के सहयोगी स्टाफ के दो सदस्यों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद खेल आधा घंटा विलंब से शुरू हुआ था. चौथा टेस्ट पांच जनवरी से सिडनी में खेला जाएगा.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta