Top
विज्ञान

केरल शास्त्र साहित्य परिषद का सुझाव, 'गौ विज्ञान' पर राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा रद्द की जाए

Mohit
23 Feb 2021 6:02 PM GMT
केरल शास्त्र साहित्य परिषद का सुझाव, गौ विज्ञान पर राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा रद्द की जाए
x
केरल शास्त्र साहित्य परिषद ने ‘‘गौ विज्ञान'' पर राष्ट्रीय स्तर की स्वैच्छिक ऑनलाइन परीक्षा को रद्द करने की मांग करते हुए कहा कि यह अंधविश्वास फैलाने और देश में शिक्षा क्षेत्र का भगवाकरण करने की कोशिश है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | केरल शास्त्र साहित्य परिषद ने ''गौ विज्ञान'' पर राष्ट्रीय स्तर की स्वैच्छिक ऑनलाइन परीक्षा को रद्द करने की मांग करते हुए कहा कि यह अंधविश्वास फैलाने और देश में शिक्षा क्षेत्र का भगवाकरण करने की कोशिश है. परिषद ने हाल ही में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) द्वारा सभी कुलपतियों को जारी उस निर्देश को नजरअंदाज करने की नागरिक संस्थाओं से अपील की है, जिसके जरिए छात्रों को राष्ट्रीय कामधेनु आयोग (आरकेए) द्वारा आयोजित परीक्षा में बैठने के लिए प्रोत्साहित किया गया है. उल्लेखनीय है कि परिषद केरल में एक प्रगतिशील संगठन है और लोगों का विज्ञान आंदोलन है.

केंद्र सरकार ने पांच जनवरी को घोषणा की थी कि गाय की देशी नस्ल और इसके फायदे के बारे में छात्रों और आम आदमी के बीच रूचि पैदा करने की कोशिश के तहत 25 फरवरी को गौ विज्ञान परीक्षा का आयोजन किया जाएगा. परिषद ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ''यह निंदनीय और स्तब्ध कर देने वाला है कि देश में विश्वविद्यालय शिक्षा की शीर्ष संस्था छात्रों को एक ऐसी परीक्षा में बैठने के लिए प्रेरित कर रही है, जो अवैज्ञानिक तथ्यों पर आधारित है.''

आयोग ने कहा था कि प्रारूप परीक्षा का पाठ्यक्रम आरकेए की वेबसाइट पर उपलब्ध करा दिया जाएगा. परिषद ने कहा कि वेबसाइट पर कई सारे बेकार के दावे किये गये हैं, जिनका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it