Top
विज्ञान

टॉयलेट पाइप से भी है कोरोना वायरस का खतरा? जानें वैज्ञानिकों ने क्या पाया

Gulabi
4 May 2021 12:02 PM GMT
टॉयलेट पाइप से भी है कोरोना वायरस का खतरा? जानें वैज्ञानिकों ने क्या पाया
x
टॉयलेट पाइप से भी है कोरोना वायरस

देश में कोरोना का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है. हर दिन कोरोना के रिकॉर्ड नए मामले सामने आ रहे हैं. इन सबके बीच कोरोना बार-बार अपना स्वरूप भी बदल रहा है. कोरोना की दूसरी लहर पहले से ज्यादा खतरनाक है. इसके बारे में शोधकर्ताओं ने पहले ही चेताया था. अब जाकर उनकी बातें सच साबित हो रही हैं. शुरुआत में यह माना जाता था कि जब कोरोना संक्रमित व्यक्ति छींकता, खांसता है तो उस दौरान निकलने वाले रेस्पिरेटरी बूंदों (Droplets) के माध्यम से यह फैलता है.


इसके बाद में वैज्ञानिकों ने पाया कि ये घातक वायरस एयरबॉर्न (Airborne) हैं और एरोसोल (Aerosols) नामक छोटी बूंदों में मौजूद होता है जो हवा के माध्यम से प्रसारित होता है. अब, चीनी शोधकर्ताओं ने एक और चौंकाने वाला दावा किया है. उन्होंने कहा है कि सार्स-सीओवी-2 घरों के टॉयलेट पाइप के माध्यम से भी फैल सकता है.

चीन के ग्वांगझू में एक खाली अपार्टमेंट के बाथरूम में कोरोनो वायरस के निशान पाए जाने के बाद शोधकर्ताओं ने यह दावा किया है. इस चौंका देने वाले खोज ने यह संकेत दिया है कि वायरस छोटे-छोटे हवा के कणों के जरिए नाली के पाइप से हवा के जरिए ऊपर पहुंचा, क्योंकि जब आप टॉयलेट फ्लश करते हैं, तो हवा के दबाव बनने के कारण कोरोना वायरस ऊपर आया होगा. बता दें कि शुरुआत से ही कई शोधकर्ता यह पता लगाने की कोशिश कर रहे थे कि क्या वाकई बाथरूम या टॉयलेट के पाइप के जरिए कोरोना फैल सकता है.

रिपोर्ट के मुताबिक SARS-CoV-2 के निशान लंबे समय से खाली पड़े अपार्टमेंट के सिंक, नल और शावर के हैंडल पर भी पाए गए थे. इस घर के नीचे पांच लोगों का घर था और इन सभी ने एक सप्ताह पहले ही अपना कोविड-19 (COVID-19) टेस्ट करवाया था, जिसमें ये पॉजिटिव पाए गए थे. चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) के शोधकर्ताओं ने इन्वायरमेंट इंटरनेशनल में प्रकाशित एक चौंकाने वाली खोज की जानकारी दी है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it