Top
धर्म-अध्यात्म

नवरात्रि में करे ये 5 उपाय...चुटक‍ियों में पूरी हो सकती है मनमांगी मुराद

Subhi
19 Oct 2020 3:02 AM GMT
नवरात्रि में करे ये 5 उपाय...चुटक‍ियों में पूरी हो सकती है मनमांगी मुराद
x

नवरात्रि में करे ये 5 उपाय...चुटक‍ियों में पूरी हो सकती है मनमांगी मुराद

नवरात्रि पर इन टोटकों से बन सकती है ब‍िगड़ी बात शारदीय नवरात्र जहां देवी भगवती की कृपा पाने का व‍िशेष पर्व है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | नवरात्रि पर इन टोटकों से बन सकती है ब‍िगड़ी बात | शारदीय नवरात्र जहां देवी भगवती की कृपा पाने का व‍िशेष पर्व है। वहीं इन 9 द‍िनों में कई तरह के टोटके भी अपनाएं जाते हैं। मान्‍यता है क‍ि इन्‍हें अपनाने से जीवन की सभी समस्‍याएं दूर हो जाती हैं और मनमांगी मुराद म‍िल जाती है। लेक‍िन ध्‍यान रख‍िए क‍ि इन्‍हें करते समय क‍भी क‍िसी दूसरे व्‍यक्ति का बुरा नहीं सोचना चाह‍िए अन्‍यथा ये फल‍ित नहीं होते। तो आइए एस्‍ट्रॉलजर प्रमोद पांडेय से जानते हैं नवरात्रि के इन टोटकों के बारे में…

घर में क्‍लेश हो तो कर लें नवरात्रि में ये उपाय

क्लेश तो हर घर में होता है किसी में कम, किसी में ज्यादा। लेक‍िन आपके घर में पारिवारिक समस्याएं ज्यादा हैं तो नवरात्र के अंतिम दिन स्नानादि से निवृत्त होकर 'सब नर करहिं परस्पर प्रीति। चलहिं स्वधर्म निरत श्रुति नीति' का उच्चारण करते हुए अग्नि में घी से 108 बार आहुति दें। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से घर-पर‍िवार में व्‍याप्‍त क्‍लेश दूर हो जाता है।

इससे बढ़ता है आपसी प्रेम-स्‍नेह

वहीं घर-पर‍िवार के सदस्‍यों के बीच आपसी प्रेम-स्‍नेह बढ़ाने के ल‍िए प्रत‍िद‍िन एक व‍िशेष उपाय करना चाह‍िए। न‍ियम‍ित रूप से 9 द‍िनों तक कम से कम 21 बार घी की आहुति देने के बाद 'सब नर करहिं परस्पर प्रीति। चलहिं स्वधर्म निरत श्रुति नीति' मंत्र का जप करें। मान्‍यता है क‍ि इस मंत्र के जप से परिवार में प्रेम-स्‍नेह बढ़ता है।

इससे दूर हो जाती हैं धन संबंधी समस्‍याएं

अगर जीवन में धन संबंधी समस्‍याएं हों तो अष्टमी या नवमी तिथि को साफ स्थान पर उत्तर की दिशा में मुंह करके बैठे। इसके बाद अपने सामने लाल चावलों की एक ढेरी बनाकर उस पर श्रीयंत्र रखें। श्रीयंत्र के सामने तेल के नौ दीपक जलाकर उपासना करें। इसके बाद श्रीयंत्र को घर में मंद‍िर में स्थापित कर दें और अन्य सामग्री को बहते हुए जल में प्रवाह‍ित कर दें। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से देवी मां की कृपा होती है और धन संबंधी सभी समस्‍याएं दूर हो जाती हैं।

इस पहर करें जप होगी मनोवांछित फल की सिद्धी

नवरात्रि की अष्टमी तिथि को शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर दूध, दही, घी, शहद और शक्कर चढ़ाकर अच्छे से स्नान कराएं। इसके बाद मंदिर की सफाई करें और महादेव का श्रृंगार पूरे मन से करें। अब भोले का ध्यान करते हुए मंदिर से आ जाए। इसी दिन रात में करीब 10 बजे मंदिर में फिर जाकर अग्नि प्रज्ज्वलित कर 'ऊं नम: शिवाय' का जप करते हुए घी की 108 बार आहुति दें। इसके बाद 40 दिन तक इस मंत्र की पांच माला का जप घर पर ही करें। मान्‍यता है कि ऐसा करने से मनोवांछित फल की सिद्धी होती है।

आपको पता है देवी दुर्गा की प्र‍िय द‍िशा कौन सी है? शास्‍त्रों में म‍िलता है इसका ज‍िक्र

नौकरी संबंधी समस्‍या दूर करने का अचूक उपाय

अगर नौकरी संबंधी समस्‍या हो तो नवरात्रि के अंतिम दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करने के बाद सफेद रंग का सूती आसन बिछाकर उस पर पूर्व दिशा की ओर मुंह करके बैठ जाएं। अब अपने ठीक सामने पीला कपड़ा बिछाकर उस पर 108 मनकों वाली स्फटिक की माला रख दें तथा इस पर केसर व इत्र छिड़क कर माला का पूजन करें। माला को धूप, दीप और अगरबत्ती दिखाकर 'ऊं ह्लीं वाग्वादिनी भगवती मम कार्य सिद्धि कुरु कुरु फट् स्वाहा' मंत्र का 31 बार जाप करें। इस प्रकार लगातार 11 दिन तक करने से वह माला सिद्ध हो जाएगी। इसके बाद आपको जब भी किसी इंटरव्यू में जाना हो या किसी से मिलने के जाना हो तो इस माला को पहन कर जाएं। मान्‍यता है क‍ि ऐसा करने से जातक को मनचाही नौकरी म‍िलती है।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it