Top
COVID-19

रायपुर एम्स में युवक ने दम तोड़ा, प्रदेश में कोरोना से चौदहवीं मौत

Janta se Rishta
27 Jun 2020 10:12 AM GMT
रायपुर एम्स में युवक ने दम तोड़ा, प्रदेश में कोरोना से चौदहवीं मौत
x

रायपुर (जसेरि)। कोरोना संक्रमण से एम्स में भर्ती 38 वर्षीय युवक की मौत हो गई। इसके साथ ही प्रदेश में मौतों की संख्या 14 पहुंच गई है। वहीं नए मरीज मिलने का सिलसिला भी लगातार जारी है। शुक्रवार को रायपुर में 14 समेत कोरोना के 89 नए मरीज मिले हैं। इनमें पुरानी बस्ती थाने के प्रभारी, उनके दो बच्चे व पत्नी का भाई भी पॉजिटिव मिले हैं। इनके अलावा एम्स के 3 डॉक्टर, जर्मनी से लौटी रोहिणीपुरम की छात्रा, एक ट्रैफिक जवान, बिहार से लौटा व्यक्ति समेत हीरापुर व खम्हारडीह में मरीज मिले हैं। चौथा संक्रमित डॉक्टर दुर्ग का रहने वाला है। एक अन्य संक्रमित डॉक्टर जशपुर का है। जशपुर से 39, रायगढ़ व राजनांदगांव से 5-5, बलौदाबाजार व बलरामपुर से 4-4, कवर्धा से 3, सरगुजा से 1 मरीज पॉजिटिव मिले हैं। दुर्ग मिले 14 मरीजों में 7 बीएसएफ जवान और एक डॉक्टर भी शामिल हैं। नए केस साथ प्रदेश में मरीजों की संख्या 2547 पहुंच गई है। इनमें एक्टिव केस 647 है, जबकि 1885 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 156 मरीजों को शुक्रवार को डिस्चार्ज किया गया। जिस मरीज की मौत हुई है, उसे 20 जून को भर्ती किया गया था। उसे किडनी व लीवर की बीमारी थी। शुक्रवार को दोपहर 1 बजे उसकी मौत हो गई। आम लोगों की तुलना में हेल्थ वर्कर को संक्रमित होने की संभावना ज्यादा होती है। रायपुर जिले में मरीजों की संख्या 259 मरीज हो चुकी है। इनमें 80 फीसदी से ज्यादा यानी 206 मरीज शहरी क्षेत्र के हैं। एम्स में 120 मरीजों का इलाज चल रहा है। इनमें 20 गर्भवती महिलाएं व 38 बच्चे भी शामिल हैं। शुक्रवार को 1226 सैंपल टेस्ट किया गया। अब तक वहां 55477 सैंपल की जांच की जा चुकी है।
एम्स का ओपीडी खुला : कोरोना काल में पटरी पर लौटती जिंदगी के बीच अब छत्तीसगढ़ में लोगों को कुछ और सुविधाएं दी गई हैं। रायपुर स्थित एम्स 27 जून से अपनी ओपीडी सेवाएं शुरू कर रहा है। हालांकि यह सीमित तौर पर ही अभी उपलब्ध होंगी। सुपरस्पेशयलिटी और अन्य विभागों में मरीजों की संख्या भी तय कर दी गई है। वहीं ओपीडी सेवाएं सुबह 9 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक चलेंगी। इसके लिए मरीजों को पहले से ही ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा।
क्वारंटाइन सेंटर में 2 माह की बच्ची की मौत : जांजगीर-चांपा जिले के एक क्वारंटाइन सेंटर में एक श्रमिक की 2 माह की बच्ची की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि दूध पिलाने के बाद बच्ची की तबीयत अचानक बिगडऩे लगी थी और शाम तक उसकी मौत हो गई। मिली जानकारी के अनुसार मामला जांजगीर-चांपा जिले के व्यास नगर क्वारंटाइन सेंटर का है, जहां लखनऊ से लौटे प्रवासी श्रमिक और उसके परिवार को क्वारंटाइन किया गया था। मजदूर के साथ उसकी दो माह की बेटी भी थी। आज दोपहर मासूम को दूध पिलाने के बाद उसकी तबीयत बिगडऩे लगी थी और शाम होते-होते उसकी सांसें थम गई। हालांकि अभी मौत के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है। फिलहाल मामले में जांच जारी है।
क्वारंटाइन सेंटर में एक और प्रवासी मजदूर ने की खुदकुशी : छत्तीसगढ़ में अभी-अभी क्वारंटाइन सेंटर में एक और प्रवासी मजदूर की खुदकुशी की खबर सामने आई है। बताया जा रहा है कि मजदूर की खुदकुशी के बाद पूरे क्वारंटाइन सेंटर में हड़कंप मच गया था।
वहीं मामले की सूचना मिलने से मौके पर पहुंची पुलिस मर्ग कायम कर आगे की कार्रवाई कर रही है। मिली जानकारी के अनुसार मामला ग्राम सिनोधा का है, जहां प्राथमिक शाला स्कूल को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया था। यहां दूसरे राज्यों से लौटे श्रमिकों को क्वारंटाइन किया गया है। क्वारंटाइन सेंटर में शुक्रवार को एक मजदूर ने खुदकुशी कर ली। बताया जा रहा है कि मृतक मजदूर बीते दिनों कानपुर से लौटा था।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it