क्या खाली स्टेडियम में होंगे मैच?…बीसीसीआई के अधिकारी ने दिया यह जवाब…पढ़े पूरी खबर

File Pic

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | कोरोना संकट को देखते हुए ये पहले ही एलान किया जा चुका था कि किसी भी टूर्नामेंट का आयोजन नहीं किया जाएगा. ऐसे में बोर्ड्स और क्लब की मीटिंग में ये फैसला लिया जा सकता है कि खाली स्टेडियम में मैच का आयोजन करवाया जा सकता है. बीसीसीआई 25 सितंबर से एक नवंबर के बीच आईपीएल के 13वें सीजन को आयोजित करने को लेकर विचार कर रही है. बोर्ड ने कहा है कि जैसा खेल मंत्री ने कहा है कि प्रशंसकों की सुरक्षा सबसे पहले है.

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि जब लाइव स्पोर्ट वापस लौटेगा तो जाहिर सी बात है कि प्रशंसकों की सुरक्षा प्राथमिकता होगी और क्रिकेट इससे अलग नहीं है. उन्होंने कहा कि गेट मनी प्राथमिकता नहीं होगी और ब्रॉडकास्टिंग से आने वाला रेवेन्यू काफी होगा.

उन्होंने कहा, “ऐसे मुश्किल समय में गेट मनी को लेकर कोई भी चिंतित नहीं है. प्रशंसकों की सुरक्षा निश्चित तौर पर प्राथमिकता है. जब क्रिकेट होगा, ब्रॉडकास्ट रेवेन्यू बीसीसीआई के लिए पहला रेवेन्यू होगा और फिर राज्य सरकार का पैसा. आईपीएल में भी यही है.”

उन्होंने कहा, “कोई भी गेट मनी को हां नहीं कहेगा. कोई भी प्रशंसकों की सुरक्षा को ताक पर रखकर गेट मनी को प्राथमकिता देने की वकालत नहीं करेगा. जो लोग मैचों का आयोजन करते हैं वह बुनियादी सिद्धांत को समझते हैं. वहीं खेल मंत्री ने बयान दिया है और वह सरकार की नुमाइंदगी करते हैं इसलिए सभी को इस बात का ध्यान रखना चाहिए और स्थिति की गंभीरता को समझना चाहिए.”

रिजिजू ने साफ कर दिया था कि खेल गतिविधियां धीरे-धीरे शुरू होंगी अभी सिर्फ खिलाड़ियों को ट्रेनिंग करने की इजाजत दी गई है. उन्होंने कहा था कि आईपीएल पर फैसला सरकार द्वारा कोरोनावायरस की स्थिति को परखने के बाद लिया जाएगा. उन्होंने साफ कर दिया था कि खिलाड़ियों को दर्शकों के बिना खेलने के लिए तैयार रहना चाहिए.

रिजिजू ने इडिया टुडे से कहा था, “भारत में सरकार को फैसला लेना होता है और सरकार स्थिति को देखकर फैसला लेगी. हम स्वास्थ्य को सिर्फ इसलिए जोखिम में नहीं डाल सकते कि हमें टूर्नामेंट कराने हैं. हमारा ध्यान इस समय कोविड-19 से लड़ने पर है और साथ ही हमें सामान्य स्थिति में पहुंचना है. तारीख की पुष्टि करना अभी मुमकिन नहीं है लेकिन मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि हम इस साल टूर्नामेंट करा पाएंगे.”

उन्होंने कहा, “हमें सलाह दी गई है कि स्वास्थ्य और सुरक्षा हमारी प्राथमिकताएं हैं और इसके अलावा हमें गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस और स्थानीय अधिकारियों की भी गाइडलाइंस को मानना है. हम टूर्नामेंट शुरू करना चाहते हैं लेकिन इससे पहले हमें खिलाड़ियों की ट्रेनिंग शुरू करनी होगी. हम तुरंत टूर्नामेंट शुरू नहीं कर सकते.”