टी-20 वर्ल्ड कप पर संकट के बादल, ऑस्ट्रेलिया ने आयोजन को जोखिम भरा बताया | जनता से रिश्ता

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | कोरोना वायरस की वजह से इस साल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले ट्वेंटी-ट्वेंटी वर्ल्ड कप पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं. क्रिकेट आस्ट्रेलिया के सीईओ केविन रोबटर्स ने माना है कि इस साल होने वाले टी-20 विश्व कप का आयोजन तय कार्यक्रम के मुताबिक होना जोखिम भरा है. हालांकि अब तक ट्वेंटी-ट्वेंटी वर्ल्ड कप को रद्द करने को लेकर आईसीसी ने कोई फैसला नहीं लिया है.

रोबटर्स ने कहा, “जाहिर सी बात है कि हम सभी उम्मीद कर रहे हैं कि यह टूर्नामेंट अक्टूबर-नवंबर में अपने तय कार्यक्रम के मुताबिक हो, लेकिन ऐसा हो सकेगा यह काफी जोखिम भरा होगा. इवेंट नहीं होता है तो अगले साल फरवरी-मार्च या अक्टूबर-नवंबर में संभावित विंडो है.”

टी-20 विश्व कप इसी सालआस्ट्रेलिया में 18 अक्टबूर से 15 नवंबर के बीच आयोजित किया जाना है, लेकिन कोरोनावायरस के कारण क्रिकेट कैलेंडर में आए भूचाल के कारण इस टूर्नामेंट पर काले बादल मंडरा रहे हैं.

रोबटर्स ने हालांकि साफ कर दिया कि इस पर अंतिम फैसला अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को लेना है. आईसीसी ने गुरुवार को बैठक की थी और उम्मीद की जा रही थी कि इसमें टी-20 विश्व कप को लेकर कोई फैसला होगा लेकिन इस बैठक के सभी मुद्दों को 10 जून को होने वाली अगली बैठक तक के लिए टाल दिया गया है.

बता दें कि अगर ट्वेंटी-ट्वेंटी वर्ल्ड को इस साल टालने का रद्द करने का फैसला किया जाता है तो उसका असर अगले साल भारत में होने वाले विश्व कप के आयोजन पर भी पड़ सकता है. इसके साथ ही ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं ट्वेंटी-ट्वेंटी विश्व कप रद्द होने की स्थिति में इस साल सितंबर-अक्टूबर में इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन का आयोजन हो सकता है.