मकड़ी की इस नई प्रजाति का नाम सचिन तेंदुलकर के नाम पर रखा गया | जनता से रिश्ता

file pic

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। लीजेंडरी क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के प्रति उनके फैन्स अलग-अलग तरीकों से उनके प्रति सम्मान प्रकट करते हैं। ऐसे ही एक फैन ने सचिन के लिए अपनी दीवानगी दिखाने का अलग तरीका निकाला है। स्पाइडर टैक्सोनोमी में पीएचडी करने वाले एक रिसर्चर ने सचिन के प्रति अपने प्रेम को प्रकट करने का सबसे अनोखा तरीका खोजा है। उन्होंने स्पाइडर की एक नई प्रजाति का नाम सचिन के नाम पर रखा है। गुजरात एजुकेशन एंड रिसर्च फाउंडेशन (जीईईआर) में जूनियर रिसर्चर ध्रुव प्रजापति ने स्पाइडर्स की कुछ नई प्रजातियों की खोज की है। इनमें से एक का नाम उन्होंने तेंदुलकर के नाम पर रखा और दूसरी का नाम संत कुरियकोस इलियास चावरा के नाम पर।

चावरा ने केरल में शिक्षा के क्षेत्र में जागरुकता पैदा करने में अहम भूमिका अदा की है। ध्रुव ने कहा, ”मैं इनमें से एक का मारेंगो सचिन तेंदुलकर रखा रहा हूं क्योंकि सचिन मेरे पसंदीदा क्रिकेटर हैं।”बता दें कि मारेंगो सचिन तेंदुलकर प्रजाति की यह मकड़ी केरल, तमिलनाडु और गुजरात में पाई जाती है। मारेंगो सचिन तेंदुलकर प्रजाति की मकड़ी की खोज ध्रुव ने 2015 में की  थी, लेकिन उस पर रिसर्च और पहचान का काम 2017 में पूरा हुआ।

उन्होंने आगे बताया, ”दूसरा नाम संत कुरियाकोस इलियास चावरा से प्रेरित है। वह केरल में शिक्षा के क्षेत्र में जागरुकता पैदा करने वाले रहे हैं।” उन्होंने बताया, ”ये दो नई प्रजातियां एशियन जंपिंग स्पाइडर्स के जीन्स इंडोमैरेंगो और मैरेंगो का हिस्सा हैं।” ध्रुव द्वारा यह अध्ययन रूसी जर्नल में अर्थरोपोड़ स्लेक्टा शीर्षक से सितंबर अंक में छपी है।