यह गुड़िया रात में हिलाती है मुंह, देख रोंगटे खड़े हो जायेंगे

file photo

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। कठपुतलियों की तरह गुड़ियों के इस्तेमाल के बारे में आपने जरूर सुना और देखा होगा। इस कलाकारी को वेंट्रिलोक्विस्ट कहते हैं। वेंट्रिलोक्विस्ट कलाकार गुड़ियों का इस्तेमाल कठपुतलियों की तरह करते हैं और बिना अपने होठों को हिलाए उस गुड़िया की आवाज निकालते हैं, जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि वह गुड़िया खुद बोल रही हो। लेकिन अगर आपका पाला किसी ऐसी वेंट्रिलोक्विस्ट गुड़िया से पड़ जाए जो बिना अपने साथी इंसान के हिल रही हो या बात कर रही हो तो आपकी भलाई इसी में है कि आप अस गुड़िया से जितना हो सके उतना दूर रहें।दरअसल, इंग्लैंड के रहने वाले माइकल डायमंड को दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान नाजी कैंप में कैदी रहे एक व्यक्ति की वेंट्रिलोक्विस्ट गुड़िया मिल गई, जिसका नाम मिस्टर फ्रित्ज है। माइकल ने मिस्टर फ्रित्ज को एक ग्लास कैबिनेट में संभाल कर रख दिया। लेकिन इस गुड़िया की कुछ गतिविधियों के कारण माइकल हैरान हो गए। उन्होंने गौर किया कि रात के समय उस कैबिनेट का दरवाजा अपने आप खुल जाता था जिसमें मिस्टर फ्रित्ज को रखे थे। माइकल रोज सुबह दरवाजे को फिर से बंद कर देते थे।पहले तो माइकल ने इस तरफ ज्यादा ध्यान नहीं दिया लेकिन बाद में उन्होंने इस घटना की जड़ तक जाने का फैसला किया और इसके तह तक जाने के लिए उन्होंने जिस कमरे में मिस्टर फ्रित्ज को रखा था उसमें एक कैमरा लगा दिया। कैमरे से उन्होंने दो रातों की गतिविधियों को रिकॉर्ड किया।माइकल ने जब विडियो देखा तो उनके होश उड़ गए। विडियो में कैबिनेट का दरवाजा अपने आप खुल जाता है और गुड़िया अपना मुंह हिलाते और आंखें झपकाते नजर आ रही है। एक निर्जीव वस्तु स्वयं कैसे हिल सकती है इस बात का माइकल को कोई अंदाजा नहीं है क्योंकि उस कमरे में कोई खिड़की भी नहीं हैै। यहां तक कि कमरे में हवा आने तक की कोई जगह भी नहीं है और कैबिनेट का दरवाजा भी कुंडी के सहारे बंद रहता है तो वह अपने आप कैसे खुल सकता है।माइकल को विश्वास हो गया है कि दूसरे विश्वयुद्ध के समय की इस वेंट्रिलोक्विस्ट गुडिया पर किसी प्रेत आत्मा का साया है और यह भूतिया है। उन्होंने जब पूरी बात अपनी पत्नी शैली व बेटी एंबर को बताई तो उन्हें यह बात बिल्कुल भी पसंद नहीं आई। माइकल ने उस ग्लास डिसप्ले कैबिनेट को चेन व ताले से बंद कर दिया है और उसपर कपड़ा ढक दिया है।
माइकल ने बताया कि जब वह विडियो देख रहें थे तभी उन्हे अजीब तरह का आभास हो रहा था। उन्होंने कहा कि यह पूरा किस्सा देखकर वह कुछ हद तक हैरान हैं लेकिन जिस तरह से कैबिनेट का दरवाजा बार-बार स्वंय खुल रहा था उन्हें कुछ गड़बड़ी का आभास था। उन्होंने बताया कि मैने कमरे में सिर्फ मजे के लिए कैमरा लगाया था। मुझे कुछ बहुत बड़ा होने उम्मीद नहीं थी लेकिन जब सच में कुछ बड़ा हुआ तो यह चौंकाने वाला था। मिस्टर फ्रित्ज को सेना से जुड़ी चीजों को एकत्र करने वाले एक व्यक्ति ने माइकल को दिया था। अब माइकल आराम से मिस्टर फ्रित्ज के डरावने कमरे में रहते हैं। इस कमरे को माइकल फ्रीक रूम कहते हैं। शौकिया तौर पर चीजें एकत्र करने वाले माइकल कहते हैं कि उनकी पत्नी और बेटी मिस्टर फ्रित्ज से नफरत करते हैं और उन्हें पता है कि क्यों लोग मिस्टर फ्रित्ज को पसंद नहीं करते लेकिन वह उस गुड़िया से बिल्कुल भी नहीं घबराते हैं। उनका कहना है कि वह जिन भी चीजों को एकत्र करते हैं उनसे भावनात्मक तौर पर जुड़ जाते हैं। और सबसे महत्वपूर्ण सवाल यह जानना है कि इस घटना के पीछे क्या कारण है।