पैकेट बंद दूध ही नहीं सब्जियां खरीदते समय भी रखें ध्यान, बचे रहेंगे कोरोना से | जनता से रिश्ता

file pic

जनता से रिश्ता वेबडेस्क |   कोरोना के खतरे के बीच घर के भीतर आ रहे हर सामान को लोग संदेह की नजर से देख रहे हैं। ऐसे में हर किसी के मन में सवाल है कि आखिर कैसे घर के भीतर आ रहे सामान को संक्रमण मुक्त (सेनेटाइज) किया जाए। दरअसल, कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए शहरों को लॉकडाउन करने की घोषणा हो चुकी है। 21 दिन तक लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलना है। सरकार लोगों से बेहद जरूरी काम होने पर ही घर से निकलने की अपील कर रही है। कोरोना को रोकने में सबसे अहम है लोगों की जागरूकता। डॉक्टरों की सलाह है कि कोरोना से बचाव के लिए बाहर से आने वाले सामान को भी संक्रमणमुक्त करें। । कोरोना संक्रमण से बचाव और तनाव से दूर रहने के लिए क्या कदम उठाए जाएं, इसके लिए हिन्दुस्तान अखबार ने विशेषज्ञ डॉक्टरों से व्हाट्सएप संवाद किया। आइए जानते हैं आखिर क्या है विशेषज्ञों की लोगों को सलाह।  

हिन्दुस्तान अखबार ने हल्द्वानी के विशेषज्ञ डॉक्टरों से इस बिंदु को लेकर व्हाट्सएप के जरिए संवाद किया। इसमें विशेषज्ञ डॉक्टरों ने लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण से जुड़े खतरों और उससे बचने के बिंदुओं पर विस्तार से प्रकाश डाला। डॉक्टरों की राय है कि बाहर से आने वाला हर पैकेट बंद सामान एक बार साबुन के पानी से जरूर धोएं। साबुन 20 सेकेंड में किसी भी सतह को वायरस मुक्त कर देता है, लोगों को भी 20 सेकेंड तक साबुन से हाथ धोने की सलाह दी जाती है।

1-ब्लीच और एल्कोहल का इस्तेमाल जरूरी : 
डॉ. कुमार घर की साफ-सफाई में ब्लीच सोल्यूशन का प्रयोग करें। किसी भी संक्रमणरोधी चीज का इस्तेमाल करने से पहले निर्देशानुसार उसमें पानी मिलाएं। मगर ध्यान रहे कि सफाई करने वाले दो तरह के पदार्थों को मिलाने से बचें। हर पदार्थ एक तरह का रसायन हो सकती है। बिना सलाह ऐसा करने पर परेशानी हो सकती है, सावधानी बेहद जरूरी है। हाथों की सफाई में भी 70 फीसदी से अधिक एल्कोहल वाले लोशन का प्रयोग करें। एल्कोहल की चीज का प्रयोग रसोई में न करें, यह ज्वलनशील होता है। 
– डॉ. उमेश कुमार, माइक्रोबायोलॉजी विभागाध्यक्ष राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी

2-सामान के सीलबंद पैकेटों को साबुन और पानी से धोएं :
डॉ. पांडे संक्रमण किसी भी सामान के जरिए फैल सकता है, इसलिए घर में आने वाले दूध, ब्रेड, दाल, तेल आदि प्लाटिक पैक सामान भीतर लाने से पहले एक बार साबुन के पानी से धो लें। इस तरह संक्रमण की आशंका कम हो जाती है। बाहर से आ रहे लोगों को कपड़े धोने चाहिए, धोने में समस्या है तो धूप में कुछ घंटे रख दें। सब्जियां और फलों को भी गर्म पानी से धोने के बाद ही प्रयोग करें। इन तरीकों से संक्रमण को रोकने में मदद मिल सकती है। इसके अलावा जरूरत के अनुसार एल्कोहॉल स्प्रे बनाकर उसका प्रयोग करें। 
– डॉ. प्रदीप पांडे, वरिष्ठ आर्थोपेडिक सर्जन मैट्रिक्स हॉस्पिटल

3-सब्जी मंडी में जाएं तो दूसरों से उचित दूरी बनाए रखें-

Image result for पैकेट बंद दूध ही नहीं सब्जियां खरीदते समय


लोगों को व्यवहार में बड़ा बदलाव लाना होगा। इससे संक्रमण को आगे बढ़ने से रोका जा सकता है। सब्जी मंडी या दुकान में सामान लेते हुए एक मीटर की दूरी बनाए रखें। चिपक कर भीड़ लगाने से सभी को संक्रमण फैलने का खतरा है। सब्जियों को ज्यादा दिन के लिए न खरीदें। विटामिन सी वाले उत्पादों का प्रयोग जैसे संतरे, नींबू आदि का प्रयोग दैनिक प्रयोग में बढ़ाएं। इससे शरीर में प्रतिरोधकता क्षमता बढ़ती है। कोरोना को रोकने के लिए दवा नहीं बनी है इसलिए प्रतिरोधक क्षमता ही इससे बचाव का आसान तरीका है।

डॉ. बृजेश बिष्ट, मेडिकल एडवाइर, सुबह अस्पताल।

4-हृदय रोगियों को कोरोना संक्रमण से ज्यादा खतरा-   
कोरोना में मत्युदर बुजुर्ग और पहले से हृदय, श्वास, किडनी संबंधित बीमारियों के रोगियों  में अधिक है। इस पर दो शोधपत्र प्रकाशित हो चुके हैं। हृदय रोगियों को कोरोना से अधिक खतरा है। डायबिटीज और उच्च रक्तचाप के रोगियों में इसका खतरा 8 गुना अधिक है। जहां रोगी की इम्यूनिटी बेहद कमजोर होती है, वहां बीपी, शुगर पर नियंत्रण , मांसाहार के साथ अधिक तेल-मसालों का परहेज जरूरी है। योग के साथ एंटी-ऑक्सीडेंट्स, विटामिन सी, हल्दी, आंवला, हरी सब्जियां,सलाद, ताजे फल और पानी का अधिक सेवन इम्युनिटी को बढ़ाएगा। 
-डॉ. विमल छाजेड़, हृदय रोग विशेषज्ञ और निदेशक साओल हार्ट केयर।