Top
विज्ञान

SUN LATEST PHOTO: यूरोप टेलीस्‍कोप ने सूरज की सबसे साफ ताजा तस्‍वीरें खींचा...देखें बेहद डरावना नजारा

Janta se Rishta
7 Sep 2020 12:52 PM GMT
SUN LATEST PHOTO: यूरोप टेलीस्‍कोप ने सूरज की सबसे साफ ताजा तस्‍वीरें खींचा...देखें बेहद डरावना नजारा
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। मैड्रिड: यूरोप में स्थित टेलीस्‍कोप ने सूरज की अब तक की सबसे साफ तस्‍वीर खींचने में सफलता हासिल की है। सूरज की ये ताजा तस्‍वीरें जहां काफी स्‍तब्‍ध करने वाली हैं, वहीं काफी डरावनी भी हैं। स्‍पेन में अंतर‍िक्ष में नजर रखने वाले जर्मनी के वैज्ञानिकों ने ग्रेगोर टेलीस्‍कोप की मदद से सूरज की ये हाई रेज्यूलेशन तस्‍वीरें खीचीं हैं। ये टेलीस्‍कोप टाइडे ऑब्‍जरवेटरी में लगाया गया है।

सूरज की अब तक की सबसे साफ तस्वीर, एक कण 13.92 लाख वर्ग KM व्यास का -  Trending AajTak

लीबनिज इंस्टीट्यूट फॉर सोलर फीजिक्स (KIS) के वैज्ञानिकों ने इस टेलिस्‍कोप के लेंस को फिर से डिजाइन किया है जिससे ये अद्भुत तस्‍वीरें ली जा सकी हैं। इन तस्‍वीरों की मदद से अब वैज्ञानिक चुंबकीय क्षमता, वायुमंडलीय विक्षोभ, सौर लपटों तथा सनस्‍पॉट का गहराई से अध्‍ययन कर सकेंगे। वैज्ञानिकों ने कहा कि ग्रेगोर टेलीस्‍कोप की मदद से अब सूरज की ऐसी तस्‍वीरें खींची जा सकेंगी जैसे उसे 48 किमी की दूरी से देखा जा रहा हो।

Sun New Stunning Pictures: Show Our Star As Popcorn Like Magnetic Field  Structure: देखें: सूरज की सबसे साफ तस्‍वीरें, बेहद डरावना आ रहा नजर

जर्मन वैज्ञानिकों ने बताया है कि इन तस्वीरों का छोटा का कण भी करीब 865000 मील के व्यास का है। यानी यह स्थिति किसी फुटबॉल के मैदान में एक किलोमीटर की दूरी से एक सूई को खोजने के जैसी है। सूरज की चुंबकीय क्षमता के बारे में अभी तक बहुत कम वैज्ञानिकों को पता है। माना जा रहा है कि इन तस्‍वीरों से अब वैज्ञानिकों को काफी नई जानकारी मिलेगी।

इस परियोजना का नेतृत्‍व करने वाली डॉक्‍टर लूसिया क्‍लेइंट ने कहा, 'यह बहुत ही रोमांचक है लेकिन उतना ही ज्‍यादा चुनौतिपूर्ण प्रॉजेक्‍ट है। हमने मात्र एक साल के अंदर टेलीस्‍कोप की मशीनों, लेंस और अन्‍य इलेक्‍ट्रानिक उपकरणों को बदला है ताकि सर्वश्रेष्‍ठ तस्‍वीरों को हासिल किया जा सके।' वैज्ञानिकों के दल का शोध कोरोना वायरस लॉकडाउन की वजह से रुक गया था लेकिन जब जुलाई में स्‍पेन फिर से खुला तो वैज्ञानिक अपनी लैब में पहुंच गए। सूरज के अध्‍ययन से अब वैज्ञानिक यह पता लगा सकेंगे कि क‍िस तरह से उपग्रहों को सूरज से बचाना है।

https://jantaserishta.com/news/drdo-successfully-tests-indigenous-missile-will-be-heavy-and-heavy-on-enemies-know-its-specialty/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it