निकोलस पूरन पर 4 मैच का बैन लगने पर स्टीव स्मिथ ने कही यह बात.. । जनता से रिश्ता

file pic

जनता से रिश्ता वेबडेस्क।   गेंद से छेड़खानी यानी बॉल टैंपरिंग मामले में एक साल का प्रतिबंध झेल चुके स्टीव स्मिथ को इस बात से कोई शिकवा-शिकायत नहीं है कि वेस्टइंडीज के निकोलस पूरन को ऐसे ही मामले में केवल चार मैच का प्रतिबंध झेलना होगा. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC)ने अफगानिस्तान के खिलाफ एक वनडे मैच में गेंद की दशा बदलने के आरोप में वेस्टइंडीज के निकोलस पूरन पर पिछले सप्ताह चार टी20 मैचों का प्रतिबंध लगाया है. यह मैच भारत के लखनऊ शहर में खेला गया था. गौरतलब है कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज के दौरान बॉल टैंपरिंग मामले में संलिप्तता के चलते स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर एक-एक साल और ओपनर कैमरन बैनक्रॉफ्ट पर 9 माह का बैन लगाया गया था. इस बैन को पूरा करने में बाद स्मिथ और वॉर्नर ने इसी साल मार्च में इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी की है.

स्मिथ ने कहा,‘हर कोई अलग है. हर बोर्ड अलग है और उनका मसलों से निपटने का तरीका भी अलग है.’ उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ यहां होने वाले पहले टेस्ट से पूर्व कहा,‘मुझे कोई शिकायत नहीं है. अब यह बहुत पुरानी बात हो गई है. मैं बीती बातों को भुला चुका हूं और वर्तमान पर फोकस कर रहा हूं.’

गौरतलब है कि वेस्टइंडीज और अफगानिस्तान के बीच तीसरे वनडे मैच में शाई होप के शतक की बदौलत वेस्टइंडीज टीम ने 5 विकेट से जीत हासिल की थी. इस मैच में निकोलस पूरन को बॉल टैंपरिंग के लिए चार मैचों के लिए निलंबित किया गया था. पूरन इस अपराध के लिए सार्वजनिक तौर पर माफी भी मांग चुके हैं. आईसीसी (ICC) ने बयान में कहा, ‘खिलाड़ियों और खिलाड़ियों के सहयोगी स्टाफ से जुड़ी आईसीसी आचार संहिता के लेवल तीन के उल्लंघन की बात स्वीकार करने के लिए निकोलस पूरन को चार निलंबन अंक दिए गए हैं.’ आईसीसी ने कहा, ‘वीडियो फुटेज में दिखा था कि यह क्रिकेटर अंगूठे के नाखून से गेंद की सतह को खरोंच रहा था जिसके बाद पूरन पर संहिता के नियम 2.14 के उल्लंघन का आरोप लगाया गया था जो गेंद की दशा बदलने से संबंधित है.’ पूरन ने मंगलवार को अपराध स्वीकार कर लिया और साथ ही मैच रैफरी क्रिस ब्रॉड की सजा भी स्वीकार की. पूरन ने कहा, ‘मुझे पता चल गया है कि मैंने फैसला करने में बहुत बड़ी गलती की और मैं आईसीसी की सजा को पूरी तरह से स्वीकार करता हूं. मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि यह एकमात्र घटना है और यह दोहराई नहीं जाएगी.’