छत्तीसगढ़

रायपुर: सटोरियों पर पुलिस की आधा दर्जन टीम की नजर

Janta se Rishta
21 Sep 2020 6:15 AM GMT
रायपुर: सटोरियों पर पुलिस की आधा दर्जन टीम की नजर
x

रायपुर (जसेरि)। दुबई में आईपीएल के आगाज के साथ ही सट्टा बाजार सक्रिय हो उठा है। मंदी और कोरोना के कारण बाजार में कैश फ्लो की कमी के बावजूद सटोरियों की निगाहें उम्मीद से भरी हुई हैं। रिस्क को समझते हुए इस बार ज्यादा जोर डिजिटली लेन-देन पर है। एप के माध्यम से मुंबई, नागपुर से ऑनलाइन दावं लगा रहे बुकी गुगल-पे समेत दूसरे डिजिटल माध्यम से पेमेंट लेने पर जोर दे रहे हैं। अपराधियों की संलिप्तता : कोरोना काल में आईपीएल में सट्टेबाजी का बाजार अभी भले ही फीका है लेकिन यदि उसपर अभी से लगाम नहीं कसा गया तो आने वाले दिनों में स्थिति विकट हो जाएगी। पिछले दिनों शहर में सट्टेबाजी को लेकर की गयी फायरिंग और अन्य आपराधिक वारदातों ने यह साबित कर दिया है कि अब शहर के सटोरियों ने आपराधिक गिरोह को अपने साथ ले लिया है। जो गिरोह कल तक रंगदारी वसूलते थे वे अब सट्टेबाजी के पैसे वसूलेंगे।

राजघानी पुलिस की नजर : आइपीएल मैच में करोड़ों का सट्टा खिलाने वाले शहर के बड़े बुकियों के एजेंटों ने राजधानी रायपुर के आउटर इलाके में अपना ठीहा जमा लिया है। दरअसल पुलिस की नजर से बचने के लिए बुकी दिल्ली, मुंबई, गोवा, कोलकाता में अड्डा जमाकर बैठे हुए हैं और वहीं से वे अपने एजेंटों के जरिए 20 से अधिक को लाइन देकर लाखों का सट्टा खिला रहे हैं। ये एजेंट रायपुर शहर को छोड़कर आसपास के आउटर इलाके में सट्टे चला रहे हैं। पुलिस को पुख्ता खबर मिली है कि विधानसभा, तिल्दा, नवा रायपुर, खरोरा समेत आसपास के फार्म हाउस, कालोनियों में आइपीएल यानी सटोरियों की दिवाली शुरू हो गई है। हर रन पर धन बरस रहा है। पिछली बार की तरह इस बार भी एसएसपी अजय यादव ने सट्टेबाजों को दबोचने के लिए पुलिस व साइबर सेल की छह टीम बनाई है। यह टीम मुखबिरों और पुराने बदमाशों के जरिए सट्टेबाजों के अड्डों के साथ उनकी गतिविधियों पर लगातार निगाह रख रही है।
खासकर आउटर के फार्म हाउस, कालोनियों, फ्लैट पर नजर रखी जा रही है। राजधानी के कई इलाकों, नामचीन होटलों और सूने मकानों में बुकियों ने क्रिकेट सट्टा खिलाने की तैयारी का सारा इंतजाम हफ्ते भर पहले ही कर लिया था। इसकी भनक लगते ही पुलिस भी सक्रिय हो गई है। आइपीएल मैच के जरिए सट्टा खिलाने वाले अपने ग्राहकों को ऑनलाइन वॉट्सएप के जरिए भी नंबर देकर संपर्क बना रखा है।

वॉकी-टॉकी और वॉट्सएप कॉलिंग पर बात

कोरोना संक्रमण के चलते बुकी नए तरीके भी अपना रहे हैं। जानकार सूत्रों का दावा है कि पुलिस को उनके अड्डों की भनक लग सके, इसके लिए बुकी और एजेंट वॉकी-टॉकी का इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं वॉट्सएप कॉलिंग पर बात करते हैं। सटोरियों ने हाइटेक जमाने में खुद को भी हाइटेक कर लिया है। अब फोन पर कॉल या मैसेज के बजाय ज्यादातर बुकिंग वॉट्सएप या अन्य सोशल साइट्स से ले रहे हैं। सट्टा खिलाने के लिए हाइटेक मशीनों का इस्तेमाल कर रहे हैं। इससे सीधे-सीधे बुकिंग हो जाती है। दांव जीतने पर पेमेंट की जानकारी भी इसी तरह से दी जा रही है।

हर बॉल, रन पर रेट तय

शहर में रहने वाले सटोरिए सट्टा लगाने वाले की जानकारी मुंबई, दिल्ली, कोलकाता जैसे बड़े-बड़े शहरों में बैठे अपने सरगना को दे रहे हैं। इनकी इच्छा के अनुसार मैच के हर बॉल, ओवर और रन का रेट निर्धारित कर कारोबार किया रहा है।

आइपीएल क्रिकेट मैच में सट्टा पर नजर पुलिस की नजर है, शिकायतें भी मिली हैं। पुख्ता सूचना मिलने पर छापामार कार्रवाई की जाएगी।
-अभिषेक माहेश्वरी, एडिशनल एसपी, क्राइम

https://jantaserishta.com/news/three-shops-sealed-in-raipur-district-administration-took-major-action-against-black-marketing/

https://jantaserishta.com/news/4-ips-officers-transferred-state-government-issued-order/

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta