छत्तीसगढ़

रायपुर: ड्रग के नशे में मदहोश युवा, परिवार और पुलिस हलाकान

Janta se Rishta
17 Sep 2020 7:11 AM GMT
रायपुर: ड्रग के नशे में मदहोश युवा, परिवार और पुलिस हलाकान
x

नशीले पदार्थ के सौदागरों के लिए जमानती धाराएं सुरक्षा कवच, राजधानी में नशे के टशन में लूट, चोरी, छिनताई और चाकूबाजी

जसेरि रिपोर्टर
रायपुर। राजधानी में बढ़ रहे आपराधिक वारदातों रोकने के लिए पुलिस जितना भी जतन करती है अपराधी चकमा देकर वारदात को अंजाम दे ही देती है। अपराधियों और पुलिस में तू डाल-डाल, मैं पात-पात वाला लुकाछिपी का खेल चल रहा है। इसके चलते अपराध और अपराधियों की संख्या दिन ब दिन राजधानी बढ़ते जा रही हैं। जिससे पुलिस भी खासा परेशान नजर आ रही हैं। इस अपराध के पीछे नशे से जुड़े गिरोह काम कर रहा ऐसा पुलिस के बड़े अधिकारी और महकमा मानती है।

नौनिहाल और स्कूल-कालेज पढऩे वाले युवा पीढ़ी अपराधियों के संगत में रहकर अपराध और नशे के दलदल में फंस कर अपने जीवन को बर्बाद कर रही है। सारे अपराध की जड़ नशा है जो बच्चों और युवाओं को सस्ते में नशीला पदार्थ उपलब्द कर उनके जीवन के साथ खिलवाड़ कर रही है। महंगे शौक, स्टेटर्स सिंबाल बाइक, मोबाइल की चाह में युवा पढ़ाई लिखाई छोड़कर अपराधियों के साथ मिलकर नशेडिय़ों को घर पहुंच नशा की सामग्री उपलब्ध करा रही है। राजधानी के चारों कोनों में ब्राउन शुगर, गांजा, शराब, चरस के सौदागरों ने जाल बिछा रखा है। राजधानी में बेखौफ ब्राउन शुगर सहित अन्य नशीले पदार्थ खुलेआम बिक रहे हैं। युवा पीढ़ी ब्राउन शुगर के नशे में मदहोश है। नशे की हालत में उन्हें ये पता नहीं चलता की वो क्या कर रहे है, किसको क्या बोल रहे हैं और किससे क्या बात कर रहे हैं। राजधानी में युवाओं को नासूर रोग लग चुका है। जिसका समय रहते इलाज करना बहुत ही जरूरी हो गया है, नहीं तो यह रोग युवाओं को पूरी तरह तवाह कर देगी। प्रदेश सहित राजधानी में नशे की लत ने युवा पीढ़ी को बर्बादी के कगार मे ंलाकर खड़े कर दिया है, जो घर-परिवार के साथ समाज के लिए हानिकारक साबित होते जा रहा हैं।

कौन कर रहा है युवाओं को बिगाडऩे की साजिश

राजधानी में चल रहे ब्राउन शुगर, गांजा, चरस, मारिजुआना, अल्फा, गोली टेन, कफ सिरप, लोशन, मात्र 50 रुपए में बिकने वाली कोमियो नाम की दवा जो हर किराना दुकान और स्टेशनी दुकान में आसानी से उपलब्ध है जिसे जानबूझ कर बेचा जाता है। नशे के अवैध कारोबार युवाओं को अपनी चपेट में लेने लगा हैं। कमजोर क़ानूनी कार्यवाही और जमानती अपराधों की वजह से ऐसे ब्राउन शुगर बाज़ारों में खुलेआम बिकते जा रहे हैं। शहर के कुछ नामी नशे के कारोबारी और तस्कर जिसको पुलिस को तहकीकात के बाद गिरफ्तार करना चाहिए। जैसे कि सोनू, लाला, नदीम, मुश्ताक, आदिल, कविनाथ, सुरजीत, मोइनुद्दीन, जब्बार आदि अनेक जांच के दायरे में लेकर पुलिस को ड्रग्स माफियाओंं की जड़ तक जाना होगा और इसके पीछे छिपे सफेदपोश को बेनकाब करना होगा।

पुलिस की बड़ी कार्यवाही

रायपुर पुलिस ने कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत अवैध रूप से नशीला पदार्थ ब्राउन शुगर की बिक्री कर रहे एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने युवक के कब्जे से करीब 13 हजार रूपये का नशीला पदार्थ ब्राउन शुगर जप्त कर लिया है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक आरोपी युवक थाना कोतवाली क्षेत्र अंतर्गत व्हाइटहाऊस के सामने नगर निगम गार्डन सहित शहर के कई स्थानों में घुमकर ब्राउन शुगर बेचा करता था। आरोपी मो. फरीद खान अपने पुरानी बस्ती स्थित मकान में ब्रॉउन शुगर जैसा नशीला पावडर छुपाकर रखता था। नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली डी.सी. पटेल के नेतृत्व में योजना बनाकर एक विशेष टीम का गठन किया गया एवं मुखबिर द्वारा बताये स्थान पर जाकर टीम द्वारा आरोपी की पतासाजी व तस्दीकी प्रारंभ की गई तथा आरोपी को चिन्हांकित किया गया। टीम द्वारा दबिश देकर ब्राउन शुकर बिक्री करते युवक को रंगे हाथ पकड़ा गया। पूछताछ में व्यक्ति ने अपना नाम मो. फरीद खान होना बताया तथा उसकी तलाशी लेने पर उसके कब्जे में अलग-अलग प्लास्टिक झिल्ली की पुडिय़ों में नशीला पदार्थ ब्राउन शुगर रखा होना पाया गया। शहर के प्रमुख वार्ड और मोहल्लों में छुटभैया नेताओं की दलाली से पुलिस भी परेशान है और असहाय है। अपराधी को बड़ी मुस्किल से पकड़ कर लाते है और थाने पहुंचते ही छुटभैया नेता लोग अपराधियों को छुड़ाने के लिए नए-नए कहानी किस्से लेकर पहुंच जाते है। और अनेतिक दबाव बनाकर अपराधियों को छुड़ाने का प्रयोजन करते है। शहर के प्रमुख क्षेत्र जहां पर नशीली ड्रग का का जमकर खरीदी -बिक्री होती है। संजय नगर, टिकरापारा, रामसागरपारा, नयापारा, सत्ती बाजार, तेलीबांधा, काली नगर, मोमिन पारा, नेताजी सुभाष स्टेडियम, ऑक्सीजोन का गार्डन,समता कालोनी, चौबे कालोनी,काशीराम नगर, छोटापारा,रामकुंड, अर्जुन नगर, भरत नगर शहर के चारों कोनों के आउटरों में ड्रग, नशीली दवाई आसानी से उपलब्ध हो जाते है।

पुलिस ने दिखाई सूझबूझ और किया गिरफ्तार

राजधानी के मौदहापारा थाना पुलिस को जांच के दौरान एक युवक के पास ब्राउन शुगर मिला। आरोपी के पास से 80 हजार का 20 पुडिय़ा पावडर जब्त किया गया है। आरोपी ने नागपुर से पावडर लाना बताया है। पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। पुलिस के मुताबिक अवधियापारा का पंकज माखीजा शाम को मौदहापारा में घूम रहा था। पुलिस की टीम इलाके में जांच कर रही थी। उन्हें सूचना मिली कि पंकज के पास भारी मात्रा में ब्राउनशुगर है। पुलिस ने उसे ट्रेस किया और कब्रिस्तान के पीछे पकड़ लिया। आरोपी के तलाशी के दौरान जेब मेें 20 पुडिय़ा मिली, जिसमें 800 मिलीग्राम पावडर था। पुलिस ने पावडर को जांच के लिए भेज दिया है। उसके सैंपल की जांच की जा रही है। आरोपी के पास से साढ़े 5 हजार भी मिले है। पुलिस के अनुसार आरोपी बेचने निकला था। उसके एक साथी पर पहले ही कार्रवाई हो चुकी है। पुलिस ने उसके परिजनों को भी तलब किया था। परिजनों के अनुसार युवक खुद भी पावडर का नशा करता है।

स्कूली बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़

रेस्टोरेंट के संचालक भी आज के समय में ब्राउन शुगर का धंधा धडल्ले से अपना व्यापार कर रहे है और स्कूली बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। राजधानी में ऐसा कोई इलाका नही होगा जहां ये ब्राउन शुगर अवैध रूप से संचालित न हो रहे हों। पुलिस समय-समय पर छापेमार कार्रवाई जरूर करती है लेकिन कोई कठोर नियम नही होने की वजह से मामूली जुर्माने के बाद संचालक आसानी से छूट जाते हैं और अब तो पुलिस भी ऐसे संचालकों से त्रस्त हो गई हैं। रेस्टोरेंट ही नही इन दिनों शहर के कई बडे नामी-गिरामी होटलों में भी ब्राउन शुगर परोसा जा रहा है। इन हुक्का बार या रेस्ट्रोरेंट में नाबालिगों की इंट्री पर रोक का बाहर बोर्ड जरूर लगा रहता है लेकिन ज्यादात्तर नाबालिग ही ब्राउन शुगर का नशा करते हैं।

गांजा बेचने वाले गिरफ्तार

आमानाका थाना क्षेत्र में मादक पदार्थ, गांजा का अवैध कारोबार जोरों से चल रहा है। सरोना ब्रिज के आसपास गांजे की बिक्री जोरों पर है। एक गांजा बेचने वाला व्यक्ति गांजा तस्कर का पिता है। रायपुर में बढ़ते मादक पदार्थ की अवैध बिक्री पर रोक लगाने के लिए जिला प्रशासन लगातार अभियान चला रही है, अलग-अलग जगह से लाखों रुपए के गांजा के साथ आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है, लेकिन इस वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि पुलिस की सख्त कार्रवाई के बाद भी इनके नाक नीचे गांजा बेचने वाले बेधड़क होकर गांजा बेच रहे हैं।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta