आम के बाग में हो रही मुर्गी पालन और हल्दी की खेती

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-‘आम के आम गुठली के दाम’ की कहावत उत्तर प्रदेश में चरितार्थ होती दिख रही है जहां किसान आम की फसल लेने के बाद खाली पड़े बागों में नई तकनीक का उपयोग करके हल्दी जैसे मसालों की उपज लेने और मुर्गी पालन करके अतिरिक्त आय अर्जित कर रहे हैं। ऐसा संभव हुआ है लखनऊ के केन्द्रीय उपोष्ण बागवानी संस्थान की मदद से जो आम के लिए मशहूर मलीहाबाद के किसानों को आम की फसल लेने के बाद उसमें आधुनिक प्रौद्योगिकी का उपयोग कर गुणवत्तायुक्त हल्दी की फसल लेने और मुर्गी पालन कर अतिरिक्त आय अर्जित करने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है। कुछ प्रगतिशील किसान तो विदेशी सब्जियों की खेती करके और आफ सीजन सब्जियों के पौधे उगाकर अपनी आय बढ़ा रहे हैं।