छत्तीसगढ़

रायपुर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस की निगहबानी, सख्त लॉकडाउन का दिखा नजारा

Janta se Rishta
22 Sep 2020 6:26 AM GMT
रायपुर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस की निगहबानी, सख्त लॉकडाउन का दिखा नजारा
x

कलेक्टर भारतीदासन की आम नागरिकों से अपील, कोरोना से बचने लॉकडाउन का करें पालन

रायपुर (जसेरि)। राजधानी के नागरिकों को कोरोना संकरणण से बचाने के लिए प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के साथ पुख्ता इंतजाम किया है। जगह-जगह बेरिकेटिंग के साथ वन-वे रोड से आवाजाही के साथ लोगों की घर से बाहर निकलने की जबावदेही का सख्ती से पूछताछ नगर के चौक चौराहों में देखा गया। जिला प्रशासन ने नागरिकों से सख्ती के साथ लॉकडाउन का पालन करवाने की दिशा में हर तरह के कदम उठाए है। जिससे कोई भी नागरिक फालतू बेवजह नहीं घूम सकेगा। फालतू घूमते पाए जाने पर सीधे जेल भेजने की कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर डॉ एस भारतीदासन ने रायपुर जिले के आम नागरिकों से अपील की है कि राजधानी में कोरोना संक्रमण से बचाव में आप सभी अपनी जागरूकता एवं आत्मनियंत्रण के माध्यम से अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करें। जिले में बढ़ रहे संक्रमण की श्रृंखला को बाधित करने के उद्देश्य से वर्तमान में जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण के प्रभावी रोकथाम एवं नियंत्रण के लिये सम्पूर्ण जिले में 21 सितम्बर की रात्रि 9 बजे से 28 सितम्बर के रात्रि 12 बजे तक कुल 7 दिनों के लिए लॉकडाउन किया गया है एवं धारा 144 लागू करते हुए रायपुर जिले के सम्पूर्ण क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है। कलेक्टर ने कहा है कि इस बीमारी को बचाव के माध्यम से ही हराया जा सकता है। इसके लिये आवश्यक है कि घर से बाहर निकलने पर मास्क पहने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, हाथ बार-बार धोये, आयुर्वेदिक उपायों को अमल में लाते हुये स्वच्छता का ध्यान रखें। उन्होंने कहा है कि सही समय पर मरीज की पहचान होने पर उसे समुचित उपचार से कोरोना की गम्भीरता से दूर रखा जा रहा है और देरी से पहचान होने में लोगों को जान का खतरा हो रहा है। इसलिए आमनागरिकों से आग्रह है कि किसी प्रकार का लक्षण आते ही तुरंत जांच कराएं। कलेक्टर ने कहा है कि लॉकडाउन कभी स्थायी हल नहीं हो सकता है अत: इस दौरान आदेशों एवं प्रतिबंधो के कारण जो नियंत्रण स्थापित किया जायेगा उसको दैनिक जीवन का हिस्सा आप सभी को आत्मनियंत्रण के माध्यम से बनाना होगा तभी हम इस महामारी पर विजय प्राप्त कर सकेंगें। इसलिये अनावश्यक घरों से न निकलें क्योंकि यदि आप कहीं बाहर संक्रमित होकर आते हैं तो सम्भव हैं कि आपकी प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होने के कारण यह आपको उतना नुकसान नहीं करेगा जितना आपके घर के बुजुर्गों, बच्चों एवं असाध्य रोगों से पीडि़त परिवारजनों को कर सकता है आपकी एक असावधानी आपके हँसते खेलते परिवार के लिए जानलेवा हो सकती है इसलिए अपने परिवार,समाज एवं सम्पूर्ण मानवता के हित में वह सभी कोरोना बचाव के उपायों को अपनी जीवनशैली का हिस्सा बनाये जो आवश्यक है। उन्होंने आमनागरिकों से लॉकडाउन का पालन करने की अपील करते हुए कहा है कि शासन, प्रशासन एवं समस्त प्रशासनिक अमला आप सभी की सेवा एवं सुरक्षा हेतु कटिबद्ध है और हर स्तर पर आपके साथ है। आप भी प्रशासनिक कर्मियों, स्वास्थ्य कर्मियों एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ सद्भावनापूर्ण व्यवहार करते हुये सहयोग करें।

रायपुर शहर की जनता को लॉकडाउन नियम का कड़ाई से पालन करना चाहिए ताकि आने वाले कुछ समय में कोरोना जैसी महामारी से निजात मिले और ये तभी संभव है जब जनता सरकार के बताए हुए कोरोना नियम को कड़ाई से पालन करे और अपना जागरूक नागरिक होने का परिचय दें। काबिलतारीफ बात ये है कि शहर पुलिस के सभ अधिकारी कर्मचारी मुस्तैद नजर आए और ऐसा लग रहा है कि अब कारोना के महाकाल से हर कोई जल्द से जल्द मुक्त होना चाहता है।

बेअसर लॉकडाउन का असर

सरकार और सामाजिक संगठन के तमाम प्रयासों के बावजूद आम जनता सुधरने का नाम नहीं ले रही हैं। कोरोना महाकाल में लॉकडाउन ही एक मात्र उपाय है जिसकों राज्य सरकार और तमाम संगठन मिलकर जी जान से मिलकर मेहनत कर रहें है लेकिन आम जनता है कि कोरोना काल के लॉकडाउन को गंभीरता से नहीं ले रही है मोहल्लों और बस्ती के चौक-चौराहों में भीड़ लगाए नजर आ रहें हैं, और कारोना रोकने के लिए जो मेहनत और प्रयास किए जा रहें हैे कि कोरोना का चेन हर हाल में रूके। लेकिन इस तरीके से लापरवाही पूर्वक बस्ती और आम जनता के सहयोग के बिना कोरोना संक्रमण कैसे रूकेगा।

https://jantaserishta.com/news/chhattisgarh-hospital-patient-corona-escaped-as-soon-as-the-report-came-positive-created-a-stir/

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta