लेबनान में वॉट्सऐप कॉल पर टैक्स लगने से भड़के लोग

People angry over tax on WhatsApp call in Lebanon

जनता से रिश्ता वेबडेस्क।  लेबनान में वॉट्सऐप, फेसबुक  सहित इंटरनेट से की जाने वाली हर तरह की वॉइस कॉल पर टैक्स लगाने की योजना को वापस ले लिया गया. दरअसल सरकार को बजट की रकम जुटाने के लिए कर्ज लेना पड़ रहा है. यह बोझ कम करने के लिए उसने गुरुवार (17 अक्टूबर) को वॉट्सऐप और फेसबुक की वॉइस कॉल पर हर महीने 150 रुपये का चार्ज लगाने का ऐलान किया था. मगर इसके खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा. उनके हिंसक प्रदर्शन के बाद सरकार ने अपनी ये योजना कुछ ही घंटे में वापस ले ली.

टैक्स को लेकर लोग इतने गुस्से में थे कि राजधानी बेरूत में सरकारी दफ्तरों के बाहर प्रदर्शनकारियों ने टायर जलाए और गाड़ियां भी फूंक दीं. इस हिंसक झड़प में कई लोग घायल भी हो गए. रिपोर्ट के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने एयरपोर्ट पर यात्रियों से मारपीट की.लेबनान के दूरसंचार मंत्री मोहम्मद चौकैर ने शुक्रवार (18 अक्टूबर) को घोषणा की कि वॉट्सऐप  सहित किसी भी ऐप से ऑनलाइन कॉल पर किसी तरह का टैक्स नहीं लगेगा. चौकैर ने बताया कि प्रधानमंत्री साद हरीरी के अनुरोध पर वॉट्सऐप कॉल पर लगने वाले को रद्द करने का निर्णय लिया गया है. बताया गया कि इस मुद्दे पर अब मंत्रिमंडल में इस पर चर्चा नहीं की जाएगी और सभी सेवाएं पहले की तरह उपलब्ध रहेंगी.

Voip के ज़रिए किए गए कॉल पर टैक्स
सरकार ने ऐलान कर बताया था कि Voip (Voice-over-internet-protocal) के ज़रिए की गई सभी कॉल्स पर टैक्स लगाया जाएगा. बता दें