चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार तीन वैज्ञानिकों को संयुक्त रूप से दिया जाएगा

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-इस साल चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार विलियम केलिन जूनियर, पीटर रैट क्लिफ और ग्रेग सेमेन्सा को संयुक्त रूप से दिया जाएगा. कोशिकाओं के ऑक्सीजन के इस्तेमाल पर की गई खोज के लिए इन्हें नोबेल पुरस्कार देने का फैसला किया गया है.इस साल के नोबेल पुरस्कारों का एलान शुरू हो गया है. परंपरा के मुताबिक ही सबसे पहले चिकित्सा के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान के लिए पुरस्कारों का एलान किया गया. इस बार यह पुरस्कार तीन लोगों को संयुक्त रूप से दिया जाएगा. इनमें दो अमेरिका के हैं और एक ब्रिटेन के. पुरस्कार का एलान करते हुए स्वीडन की कैरोलिंस्का एकेडमी बताया कि इन लोगों ने इस बात का पता लगाया है कि कोशिकाएं किस तरह से ऑक्सीजन के हिसाब से खुद को अनुकूलित कर लेती हैं. अवार्ड देने वाली संस्था ने नामों का एलान करने के साथ ही कहा है, “इस साल के नोबेल विजेताओं ने जीवन के सबसे अधिक जरूरी अनुकूलन प्रक्रियाओं में एक की अत्यंत प्रभावशाली खोज की है.” पुरस्कार में लगभग 828,000 यूरो (लगभग 908,000 डॉलर)की रकम इन तीनों को दी जाएगी. चिकित्सा की श्रेणी में यह 110वां नोबेल पुरस्कार होगा.

विख्यात कारोबारी और डायनामाइट की खोज करने वाले अल्फ्रेड नोबेल के नाम पर हर साल नोबेल पुरस्कार दिया जाता है. यह दुनिया का सबसे बड़ा पुरस्कार माना जाता है जो उनकी वसीयत के मुताबिक उनकी संपत्ति से बने कोष से दिया जाता है.विज्ञान, शांति, और साहित्य के क्षेत्रों में अतुलनीय योगदान के लिए ये पुरस्कार दिए जाते हैं. बाद में इसमें अर्थशास्त्र को भी शामिल किया गया हालांकि यह पुरस्कार बैंक ऑफ स्वीडन की तरफ से दिया जाता है. पिछले साल कुछ विवादों की वजह से साहित्य का नोबेल पुरस्कार नहीं दिया गया था. इस बार दोनों साल के लिए साहित्य में नोबेल विजेताओं का एलान किया जाएगा.