भारत

बीजेपी विधायक का भतीजा हिरासत में लिए गए...इस गंभीर मामले में हुई कार्रवाई

Janta se Rishta
24 Aug 2020 12:07 PM GMT
बीजेपी विधायक का भतीजा हिरासत में लिए गए...इस गंभीर मामले में हुई कार्रवाई
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद में साप्ताहिक लॉकडाउन के दौरान रविवार की रात डेयरी खोलकर बैठना भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के कैंट विधायक के भतीजे को भारी पड़ गया। इस दौरान गश्त के लिए निकले सीओ सिविल लाइन ने छावनी विधायक के भतीजे से जवाब तलब किया। इस पर विधायक का भतीजा सीओ से उलझ गया, जिसके बाद पुलिस विधायक के भतीजे सहित तीन व्यापारियों को थाने ले गई। इस घटना के बाद थाने पर जमकर हंगामा हुआ, जिसके बाद पुलिस ने कैंट विधायक के भतीजे सहित तीन व्यापारियों पर लॉकडाउन के उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया है। इसी के साथ तीनों आरोपियों को देर रात नोटिस तामील कराने के बाद थाने से छोड़ दिया गया।

उधर, बीजेपी विधायक के भतीजे ने क्षेत्र के सीओ से लेकर थानेदार तक पर गंभीर आरोप लगाए हैं। दरअसल, छावनी क्षेत्र से बीजेपी के विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल का मूल रूप से डेयरी का व्यवसाय है। बीजेपी विधायक की कैलाश डेयरी के नाम से जिले में कई ब्रांच हैं। इनमें नौचंदी थाना क्षेत्र के शास्त्रीनगर सेंट्रल मार्केट स्थित कैलाश डेयरी कैंट विधायक के भतीजे जितेंद्र अग्रवाल उर्फ अट्टू संभालते हैं। शुक्रवार की शाम से लेकर सोमवार की सुबह तक चलने वाले कंप्लीट लॉकडाउन के दौरान जितेंद्र अग्रवाल की डेयरी लगातार खुल रही थी। कुछ लोगों ने रविवार को सीओ सिविल लाइन संजीव देशवाल को कॉल करके मामले की जानकारी दी। इसके बाद सीओ सिविल लाइन संजीव देशवाल ने नौचंदी थाना प्रभारी आशुतोष कुमार और पुलिस फोर्स के साथ डेयरी पर रेड की।

आरोप है कि डेयरी खोलने को लेकर विधायक के भतीजे से सवाल-जवाब किए गए तो वह पुलिस से उलझ पड़ा। उधर, विधायक के भतीजे के समर्थन में मौके पर पहुंचे क्षेत्रीय व्यापारियों ने भी हंगामा शुरू कर दिया। इसके बाद पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए विधायक के भतीजे सहित दो अन्य व्यापारियों को हिरासत में ले लिया। पुलिस इन्हें जीप में लेकर नौचंदी थाने पहुंच गई। घटना की जानकारी मिलते ही सेंट्रल मार्केट के व्यापारियों में आक्रोश फैल गया। दर्जनों व्यापारियों ने नौचंदी थाने पहुंचकर हंगामा शुरू कर दिया। इस दौरान पुलिस और व्यापारियों के बीच तीखी नोकझोंक हुई।

सीओ सिविल लाइन संजीव देशवाल ने बताया कि इस मामले में बीजेपी के कैंट विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल के भतीजे जितेंद्र अग्रवाल सहित दो अन्य व्यापारियों के खिलाफ नौचंदी थाने में लॉकडाउन के उल्लंघन का मुकदमा दर्ज किया गया है। देर रात कैंट विधायक के भतीजे सहित अन्य दोनों व्यापारियों को 41ए का नोटिस तामील कराकर थाने से छोड़ दिया गया है।

उधर, इस मामले में कैंट विधायक के भतीजे जितेंद्र अग्रवाल ने भी सर्किल के सीओ से लेकर थानेदार तक, पर गंभीर आरोप लगाए हैं। विधायक के भतीजे का आरोप है कि उन्हें क्षेत्रीय व्यापार संघ की राजनीति का शिकार बनाया गया। व्यापार संघ के एक गुट की ओर से झूठी शिकायत करने पर पुलिस ने उनके साथ अभद्रता की और उन्हें उठाकर थाने ले गई। वह प्रशासन की गाइडलाइन के मुताबिक सिर्फ डेयरी का सामान बेच रहे थे। इसके बावजूद पुलिस ने उन पर डेयरी की आड़ में अन्य सामान बेचने का आरोप लगाया है। कैंट विधायक के भतीजे का कहना है कि उन्होंने हमेशा पुलिस का सम्मान किया है।

इन सबके बीच एक बात और अहम है। शुक्रवार को जिले में एसटीएफ की ओर से छापेमारी के दौरान बरामद की गई 35 करोड़ रुपये की एनसीईआरटी की नकली किताबों के मामले में भी बीजेपी विधायक सत्य प्रकाश अग्रवाल के बेटे का नाम हाइलाइट हो रहा है। शनिवार को समाजवादी पार्टी (एसपी) के जिलाध्यक्ष राजपाल सिंह ने इस पूरे प्रकरण में कैंट विधायक के बेटे के भी संलिप्त होने का आरोप लगाया था। वहीं, समाजवादी पार्टी के नेताओं ने पुलिस पर आरोपियों के बचाव का आरोप लगाते हुए इस पूरे प्रकरण की सीबीआई जांच कराए जाने की मांग की है।

https://jantaserishta.com/news/chhattisgarh-corona-bomb-exploded-in-collector-office-3-employees-of-same-department-turned-out-positive/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it