NASA की चेतावनी, ग्रहण के बाद पृथ्वी की तरफ तेज गति से आएगा बड़ा धूमकेतु| जनता से रिश्ता

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। नास्त्रेदमस और बाबा वेन्गा समेत कई विद्वान पृथ्वी के सर्वनाश की भविष्यवाणी कर चुके हैं. बाइबिल के ‘बुक ऑफ रिवेलेशन’ में भी धरती के सर्वनाश का जिक्र किया गया है. वहीं, चंद्र ग्रहण को भी हिंदू धर्म की मान्यताओं में तमाम तरह की प्राकृतिक आपदाओं से जोड़कर देखा जाता रहा है. शुक्रवार रात साल का पहला चंद्र ग्रहण लग रहा है और इसी बीच नासा ने भी एक बड़े धूमकेतुओं के पृथ्वी के करीब से गुजरने की चेतावनी जारी की है.

अमेरिका की स्पेस एजेंसी नासा ने अपने एस्टेरॉयड ट्रैकिंग सिस्टम के जरिए पृथ्वी के करीब से गुजरने वाले एक विशालकाय धूमकेतु (2020 AB2) का पता लगाया है.

नासा के अनुसार 2020 AB2 नाम का यह धूमकेतु रविवार, 12 जनवरी को पृथ्वी के करीब से होकर गुजरेगा. चंद्र ग्रहण का असर अगले 15 दिनों तक रहता है, इसलिए यह घटना प्रासंगिक है.

नासा ने इस धूमकेतुओं के आकार और इसकी रफ्तार के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी है. नासा के मुताबिक यह धूमकेतु 28,440 प्रतिघंटे की रफ्तार से पृथ्वी की तरफ बढ़ रहा है.

इस धूमकेतु की गति इतनी ज्यादा है कि यह लंदन से न्यूयॉर्क शहर की दूरी सिर्फ छह मिनट में पूरी कर सकता है. इंसान द्वारा निर्मित SR-71 ब्लैकबर्ड अब तक का सबसे तेज विमान माना जाता है. यह विमान लंदन से न्यूयॉर्क की दूरी एक घंटे में भी पूरी नहीं कर सकता.

यानी इस धूमकेतु की रफ्तार इतनी ज्यादा है कि इसकी एक चोट पृथ्वी के बड़े हिस्से को तबाह करने के लिए काफी है. इस रफ्तार से टकराने वाला धूमकेतु 185 फीट ऊंची सुनामी ला सकता है.

इस धूमकेतु का साइज 49 फीट (15 मीटर) है. यानी इसका आकार डबल डेकर बस से करीब दोगुना है. नासा के अनुसार, अगर धूमकेतु की दिशा यही रहती है तो चिंता की बात नहीं है.

धूमकेतु की दिशा और रफ्तार यही रहने पर यह पृथ्वी से 1,645,576 किलोमीटर की दूरी से गुजरेगा.

बता दें कि चंद्र ग्रहण से ठीक पहले पृथ्वी के बेहद करीब से चार विशालकाय धूमकेतु होकर गुजरे हैं. ये धूमकेतु आकार में 2020 AB2 से भी बड़े हैं.