नासा : अंतरिक्ष में इस सप्ताह पहली बार दो महिलाएं स्पेसवॉक कर बनाएंगी इतिहास

नासा

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। वॉशिंगटन : अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की ओर से इस सप्ताह पहली बार केवल महिलाओं को अंतरिक्ष में स्पेसवॉक के लिए भेजा जाएगा। नासा की अंतरिक्ष यात्री क्रिस्टीना कोच और जेसिका मीर 17 या 18 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र (आईएसएस) जाएंगी। नासा के अनुसार, अंतरिक्ष में यह चहलकदमी लगभग साढ़े 6 घंटे तक चलेगी।नासा के अधिकारी जिम ब्रिडेनस्टाइन ने मंगलवार को ट्वीट किया, ‘खराब बैटरी चार्ज-डिस्चार्ज यूनिट को बदलने के लिए पहली बार सिर्फ महिला अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष में गुरुवार या शुक्रवार को चहलकदमी करेंगी, जिसमें क्रिस्टीना और जेसिका शामिल होंगी।’ इससे पहले अंतरिक्ष केंद्र प्रबंधकों ने अपनी निर्धारित चहलकदमी योजना को स्थगित करने का निर्णय लिया था। खराब बैटरी चार्ज-डिस्चार्ज यूनिट की जगह पर नई बैटरी को स्थापित करने के लिए समयसीमा तय की गई थी, लेकिन उसमें यह हो नहीं सका। नई लिथियम-आयन बैटरी 11 अक्टूबर को अंतरिक्ष केंद्र में स्थापित की जानी थी, मगर बीसीडीयू इसमें असफल रहा। नासा ने कहा कि बीसीडीयू विफलता से स्टेशन संचालन, चालक दल की सुरक्षा या प्रयोगशाला में चल रहे प्रयोग प्रभावित नहीं हुए हैं। इनमें भविष्य के चंद्रमा और मंगल मिशन की तैयारी शामिल है। कोच और नासा के अंतरिक्ष यात्री ऐनी मैक्लेन सहित एक महिला स्पेसवॉक (ऑल वूमन स्पेसवॉक) मूल रूप से मार्च के लिए निर्धारित किया गया था।

कोच का चौथा और मीर का पहला स्पेसवॉक होगा

स्पेस डॉट कॉम की रिपोर्ट में बताया गया कि यह स्पेसवॉक स्थगित करना पड़ा क्योंकि उस समय सभी अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेससूट फिट नहीं आया था। अब तक जिन 15 महिलाओं ने अंतरिक्ष में चहलकदमी की है, उनके साथ एक पुरुष साथी भी रहा है। इसलिए जब कोच और मीर इस हफ्ते अंतरिक्ष केंद्र से बाहर निकलेंगी, तो वह इतिहास बनाएंगी। यह कोच का चौथा, जबकि मीर का पहला स्पेसवॉक होगा।