#MeToo अभियान के तहत तनुश्री दत्ता छेड़छाड़ मामले में नाना पाटेकर के खिलाफ नहीं मिले सबूत

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:- बॉलीवुड अभिनेत्री तनुश्री दत्ता के साथ कथित रूप से हुए छेड़छाड़ के मामले में नाना पाटेकर को बड़ी राहत मिलती दिख रही है. मुंबई पुलिस ने अंधेरी कोर्ट में इस केस में बी समरी फाइल की है. बी समरी का मतलब है कि आरोपी के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं. ऐसे में बिना सबूत के इस जांच को कैसे आगे बढ़ाया जाए. मुंबई पुलिस की इस कार्रवाई से तनुश्री दत्‍ता को जरूर झटका लगा है.बता दें कि तनुश्री ने नाना पाटेकर के खिलाफ मुंबई के ओशिवारा पुलिस स्टेशन में पिछले साल छेड़छाड़ और यौन शोषण की शिकायत दर्ज कराई थी. इसके बाद काफी दिनों तक तनुश्री और नाना के बीच एक दूसरे को लेकर बयानबाजी होती रही. वहीं इस मामले में नाम आने के बाद नाना पाटेकर के लिए फिल्‍म इंडस्‍ट्री में मुश्किलें पैदा हो गई थीं.

#MeToo अभियान के तहत तनुश्री ने नाना पाटेकर पर लगाए थे आरोप
‘आशिक बनाया आपने’ फिल्म से बॉलीवुड में तहलका मचाने वाली एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता अपने बयान को लेकर काफी सुर्खियों में रहीं थीं. उन्होंने सिनेमा जगत के दिग्गज अभिनेता नाना पाटेकर पर सेक्सुअल हरासमेंट का आरोप लगाया था. इन आरोपों के बाद नाना ने कहा था कि वो तनुश्री पर लीगल एक्शन लेंगे. इस दौरान तनुश्री का साथ देने के लिए कई हस्तियां भी सामने आई थीं.

सिंटा ने भी कही थी आधिकारिक जांच कराने की बात
इस मामले में कदम उठाते हुए सिने एंड टीवी आर्टिस्‍ट्स एसोसिएशन (CINTAA) ने जांच कराने को लेकर आधिकारिक बयान जारी किया था. सिन्‍टा की ओर से लिखित बयान में कहा गया कि 2008 में तनुश्री की शिकायत के बावजूद इस मामले में कुछ हल नहीं निकल सका. इसके लिए सिन्‍टा शर्मिंदा है. हालांकि सिन्टा ने दावा किया कि अब इस मामले की जांच शुरू की जाएगी और सच को सामने लाया जाएगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here