Kangana Ranaut: मनाली स्थित घर के बाहर हुई फायरिंग…एक्ट्रेस ने दी जानकारी…जानिए क्या है सच्चाई

    जनता से रिश्ता वेबडेस्क। पिछले कुछ वक्त से बॉलीवुड अदाकारा कंगना रनौत सोशल मीडिया पर चर्चा में बनी हुई हैं। सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से ही कंगना की डिजिटल टीम सोशल मीडिया पर बेबाकी से अभिनेत्री की राय रख रही है। इस बीच खबर सामने आई कि कंगना रनौत के मनाली स्थित घर के बाहर फायरिंग हुई है, जो उन्हें डराने के लिए की गई है। लेकिन इस वायरल खबर की सच्चाई कुछ और ही है।

    रिपोर्ट्स के मुताबिक कंगना ने कहा,’मैं रात को करीब 11:30 बजे अपने बेडरूम में थी। हमारे घर में तीन फ्लोर हैं। यहां बाउंड्री वॉल है जिसके पीछे सेब के बगीचे हैं। रात को 11:30 बजे मैंने पटाखों जैसी आवाज सुनी। पहले मुझे लगा कि यह पटाखों की आवाज है और फिर एक और शॉट हुआ। मुझे थोड़ा अंदेशा हुआ कि यह गन शॉट की आवाज है। मैंने तुरंत अपने सिक्योरिटी चार्ज को बुलाया।’

    कंगना ने आगे बताया, ‘ सिक्योरिटी से पूछा- क्या हुआ है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि बच्चे हों। हम जाकर देखेंगे कि यह पटाखों की आवाज है या किसी और चीज की। हो सकता है कि उन्होंने कभी बुलेट (गोली) की आवाज ना सुनी हो लेकिन मैंने सुनी है। वो देखने के लिए गए लेकिन कोई मिला नहीं। हम यहां पांच लोग थे। जो लोग मेरे साथ थे सबको यही लगता है कि यह गोली की आवाज थी। यह पटाखों की आवाज नहीं थी और इसलिए हमने पुलिस को बुलाया।’

    अब हम आपको इस खबर की सच्चाई से रूबरू करवाते हैं। दरअसल मनाली में कंगना रनौत के घर के आसपास बागवानों ने अपनी पकी हुई सेब की फसल को चमगादड़ों समेत अन्य जानवरों से बचाने के लिए शुक्रवार देर रात पटाखे चलाए। कंगना ने पटाखों की आवाज सुनकर मनाली पुलिस को सूचित कर दिया। पुलिस तुरंत कंगना के घर पहुंची और मामले की गहनता से छानबीन की गई।

    कंगना के घर के सीसीटीवी के अलावा आसपास के घरों-होटलों के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले गए। लेकिन पुलिस की जांच में इन फुटेज में कोई भी घटना दर्ज हुई नहीं पाई गई। एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कंगना के घर ऊंची आवाज सुने जाने की कॉल आई। जिस पर मौके पर पहुंची पुलिस को सब सामान्य लगा। उन्होंने फुटेज चेक करने पर कुछ भी नहीं मिलने की बात की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि कंगना के घर के बाहर पुलिस की तैनाती नहीं की गई है।

    सुशांत सिंह रापूत की मौत पर कंगना रनौत की प्रतिक्रिया

    गौरतलब है कि इस घटना की खबर सामने आते ही सोशल मीडिया पर इसको दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत केस से जोड़ा जाने लगा। कई सोशल मीडिया यूजर्स ने ऐसे दावे किए कि कंगना रनौत को डराने के लिए ऐसा किया जा रहा है। हालांकि ये सभी दावे खोखले साबित हुए।