हुंडई ने लॉन्च की नई सेडान कार “AURA”, फीचर्स से भरपूर यह कार | जनता से रिश्ता

LATEST PIC

जनता से रिश्ता वेबडेसक |देश की दूसरी सबसे बड़ी कार कंपनी हुंडई मोटर इंडिया लिमिटेड ने भारतीय बाजार में अपनी नई सिडान को लॉन्च किया है. कंपनी ने नई सिडान को नाम ‘ऑरा’ दिया है. 2020 के पहले महीने में अपनी कार सिडान को लॉन्च करके हुंडई ने अपनी उपस्थिति  को और ज्यादा मजबूत करने की कोशिश की है. कंपनी की यह नई कार लंबाई में 4 मीटर से छोटी है और भारत में ग्राहकों को 3 इंजन विकल्पों के साथ मिलेगी.

3 इंजन विकल्प के साथ

हुंडई की ‘ऑरा’ भारतीय बाजार में ग्राहकों को 3 इंजन विकल्पों के साथ मिलेगी. कंपनी का कहना है कि कार का 1.2 लीटर पेट्रोल इंजन 83 ps की अधिकतम पावर देता है. वहीं, 1.2 लीटर डीजल इंजन 75 ps की अधिकतम क्षमता इस कार को देता है. इसके अलावा कंपनी ने पेट्रोल विकल्प में 1.0 लीटर का टर्बो इंजन दिया है जो 100 ps की अधिकतम पावर ‘ऑरा’ को देता है. ‘ऑरा’ का 1.0 लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन उन ग्राहकों के लिए है जिन्हें इस कार से ज्यादा पावर चाहिए.

कितना है कार का माइलेज

‘ऑरा’ के अगर माइलेज की बात करें तो अलग-अलग इंजन विकल्प में अलग-अलग ट्रांसमिशन का माइलेज भी अलग ही है. 1.2 लीटर पेट्रोल के मैन्युअल ट्रांसमिशन यानि गियर वाली कार का माइलेज 20.50 kmpl है. वहीं, 1.2 पेट्रोल इंजन के ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन का माइलेज 20.10 kmpl है.

डीजल 1.2 मैन्युअल ट्रांसमिशन का माइलेज 23.35 kmpl है जबकि ऑटोमैटिक ट्रांसमिशन का 25.40 kmpl का माइलेज है. 1.0 लीटर टर्बो पेट्रोल इंजन सिर्फ मैन्युअल ट्रांसमिशन में मौजूद है जिसका माइलेज 20.50 kmpl का है.

6 रंगों में कार मार्केट में उपलब्ध

‘ऑरा’ के ग्लोबल लॉन्च के मौके पर हुंडई मोटर इंडिया के नेशनल सेल्स हेड विकास जैन ने बताया कि कंपनी की यह नई कार 6 रंगों में ग्राहकों को मिलेगी. जैन ने बताया कि कंपनी अपनी मौजूदा 4 मीटर से छोटी सिडान एक्सेंट को अब सिर्फ पेट्रोल विकल्प में कमर्शियल श्रेणी में ही बेचेगी. यानि अगर कोई ग्राहक हुंडई की सिडान खरीदना चाहते हैं तो उनके सामने विकल्प ‘ऑरा’ के रूप में सामने होगा.

उन्होंने बताया कि इस सेगमेंट में कई ऐसे फीचर्स हैं जो पहली बार कंपनी की नई कार में मिलेंगे. ऐसा ही एक फीचर है वायरलेस चार्जर. वायरलेस चार्जर की मदद से ग्राहक बिना किसी केबल के अपने फोन को चार्ज कर सकेंगे.

बिक्री के लक्ष्य के बारे में उन्होंने कहा कि कंपनी ने इसका कोई बिक्री लक्ष्य तय नहीं किया है. कंपनी का कहना है कि हमारी सिर्फ कोशिश होगी कि कंपनी की उत्पादन क्षमता इतनी रहे कि ग्राहकों को नई कार के लिए इंतजार ना करना पड़े.

‘ऑरा’ के मुकाबले की बात की जाए तो इस कार का सीधा मुकाबला मारुति सुजुकी की ‘डिजायर’, टाटा की ‘टिगोर’ और फॉक्सवैगन की ‘ameo’ जैसी कारों से होगा.