गांधी विचार पदयात्रा: कंडेल से 55 किलोमीटर चलकर आज सेजबहार पहुंची

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150वीं जयंती के अवसर पर कण्डेल, धमतरी जिले से प्रारंभ गांधी विचार यात्रा आज छठवें दिन 55 किलोमीटर की पदयात्रा पूरी कर रायपुर जिले के सेजबहार पहुंची। पदयात्रा के दौरान लोग जुड़ते गए और कारवां बढ़ता गया। पदयात्रा में गांधी विचारधारा के अनुयायी, स्थानीय जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में जनसमूह सम्मिलित हुए। इस दौरान ग्रामीणों ने उत्साह के साथ पदयात्रियों का आत्मीय स्वागत किया। उल्लेखनीय है कि महात्मा गांधी जी के विचार को जन-जन तक पहुंचाने के लिए गांधी विचार पदयात्रा का आयोजन किया गया है। पदयात्रा गांधी जी के सत्य, अहिंसा, स्वावलंबन, करूणा के विचारों पर आधारित हैं। इसका समापन 10 अक्टूबर को गांधी मैदान रायपुर में होगा।

पदयात्रा आज सेजबहार में आयोजित सभा को संबोधित करते हुए मोहन मरकाम ने कहा कि हमारी सरकार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के विचारधारा पर चल रही है और गांधी जी की विचारधारा जन-जन को जोड़ने का काम करती है, तोड़ने का नहीं। मरकाम ने कहा कि गांधी जी के विचार हैं कि भारत की आत्मा गांवों में बसती हैं, गांव विकसित होगा तो प्रदेश और देश का विकास होगा। इसी तर्ज पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य शासन नरवा, गरूवा, घुरवा और बाड़ी योजना के जरिए गांवों को मजबूत और समृद्ध करने की दिशा में काम कर रही है। उन्होंने कहा कि न केवल भारत में बल्कि पूरे विश्व में गांधी जी की विचारधारा को आत्मसात् कर सत्य, प्रेम और अहिंसा के मार्ग पर चलकर मानवता का अलख जगा रहे हैं।

सभा को वरिष्ठ विधायक सत्यनारायण शर्मा ने सम्बोधित किया। कार्यक्रम में पूर्व विधायक भोलाराम साहू, रायपुर जिला पंचायत सदस्य संतोषी बंजारे, मुख्यमंत्री के सलाहकार विनोद वर्मा, रूचिर गर्ग, धर्मेन्द्र यादव, गिरिश देवांगन, पंकज शर्मा, उत्तम कोसले, परमानंद बारले, टिकेन्द्र बघेल, सरपंच अनिता साहू, संदीप यदु, प्रकाश बंदे, मोहन लालवानी, पप्पू राजेन्द्र बंजारे, ज्योति मार्कण्डेय, राकेश टंडन, आशाराम साहू, जयंत यादव अरूण व्यास, देवव्रत कुर्रे,कोमल जांगड़े , मोहम्मद असलम सहित बड़ी संख्या में जनप्रतिनिधि, विद्वजन और ग्रामीण उपस्थित थे।