यूरोपीय संसद के प्रस्ताव पर बोला फ्रांस- CAA भारत का आंतरिक मामला |जनता से रिश्ता

file pic

जनता से रिश्ता वेबडेस्क।  यूरोपीय संसद के कुछ सदस्यों ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ प्रस्ताव तैयार किया है. सांसदों के इस प्रस्ताव पर भारत कड़ी प्रतिक्रिया जता चुका है तो वहीं अब उसे फ्रांस का भी साथ मिला है. फ्रेंच राजनयिक से जुड़े सूत्र ने बताया कि सीएए भारत का आतंरिक मामला है. यह चीज हम कई मौके पर कह चुके हैं. बता दें कि फ्रांस का बयान इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि वह यूरोपीय संघ का संस्थापक सदस्य है. इससे पहले भारत ने यूरोपीय संघ (EU) से कहा है कि हमारा आंतरिक मामला है. इस कानून को संसद में सार्वजनिक बहस के बाद उचित प्रक्रिया और लोकतांत्रिक माध्यमों द्वारा अपनाया गया है. हम उम्मीद करते हैं कि सीएए को लेकर आगे बढ़ने से पहले सही मूल्यांकन करेंगे और हमारे संपर्क में रहेंगे.