भारत

प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का निधन, PM मोदी ने कुछ इस तरह किया याद

Janta se Rishta
17 Aug 2020 1:58 PM GMT
प्रसिद्ध शास्त्रीय गायक पंडित जसराज का निधन, PM मोदी ने कुछ इस तरह किया याद
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। वाशिंगटन, एजेंसियां। भारतीय शास्त्रीय संगीत गायक पंडित जसराज का निधन हो गया है। उनका निधन अमेरिका के न्यू जर्सी में हुआ है। वो 90 साल के थे। पीएम मोदी ने उनके निधन पर गहरा दुख जताया है और उनके साथ की फोटो भी पीएम मोदी ने ट्विटर पर शेयर की है।

वहीं, पंडित जसराज के निधन की खबर देते हुए उनकी बेटी दुर्गा जसराज ने बताया कि बड़े दुख के साथ हमें यह सूचित करना पड़ रहा है कि संगीत मार्तंड पंडित जसराज ने अमेरिका के न्यू जर्सी में सुबह 5:15 बजे अपनी कार्डिअक अरेस्ट के चलते अंतिम सांसें लीं। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम प्रार्थना करते हैं कि भगवान कृष्ण उनका स्वर्ग में प्यार से स्वागत करें जहां अब पंडित जी ओम नमो भगवते वासुदेवाय सिर्फ अपने प्यारे भगवान के लिए गाएंगे। हम प्रार्थना करते हैं कि उनकी आत्मा को हमेशा संगीत में शांति मिले।

https://twitter.com/ANI/status/1295352123568226306

शास्त्रीय संगीत सम्राट के निधन पर पीएम मोदी ने गहरा दुख जताते हुए ट्वीट किया कि कि पंडित जसराज के दुर्भाग्यपूर्ण निधन से भारतीय सांस्कृतिक क्षेत्र में एक गहरा प्रभाव पड़ा है। न केवल उनकी प्रस्तुतियां उत्कृष्ट थीं, उन्होंने कई अन्य गायकों के लिए एक असाधारण गुरु के रूप में भी अपनी पहचान बनाई। दुनिया भर में उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति गहरी संवेदना है।उनके निधन पर लोक संगीत गायिका मालिनी अवस्थी ने दुख प्रकट करते हुए ट्विटर पर लिखा कि मूर्धन्य गायक, मेवाती घराने के गौरव पद्मविभूषण पंडित जसराज जी नही रहे। आज अमरीका में उन्होंने अंतिम सांस ली। संगीत जगत की अपूरणीय क्षति है! विनम्र श्रद्धांजलि!

https://twitter.com/narendramodi/status/1295350526939283458

बता दें कि पंडित जसराज अपने जीवन काल में पद्म विभूषण, पद्म श्री संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, मारवाड़ संगीत रत्न पुरस्कार आदि सम्मानों से नवाजे गए थे। पंडित जसराज का जन्म 28 जनवरी 1930 को एक ऐसे परिवार में हुआ जिसे 4 पीढ़ियों तक हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत को एक से बढ़कर एक शिल्पी देने का गौरव प्राप्त था। उनके पिताजी पंडित मोतीराम जी स्वयं मेवाती घराने के एक विशिष्ट संगीतज्ञ थे।

उन्होंने बाबा श्याम मनोहर गोस्वामी महाराज के सान्निध्य में 'हवेली संगीत' पर व्यापक अनुसंधान कर कई नवीन बंदिशों की रचना भी की है। भारतीय शास्त्रीय संगीत में उनका सबसे महत्त्वपूर्ण योगदान है।

https://jantaserishta.com/news/renowned-classical-singer-pandit-jasraj-passed-away/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it