Top
विश्व

अफगानिस्तान के सिख और हिंदुओं को अमेरिका में बसाने की मांग, अमेरिकी संसद में प्रस्ताव पेश

Janta se Rishta
18 Aug 2020 1:53 PM GMT
अफगानिस्तान के सिख और हिंदुओं को अमेरिका में बसाने की मांग, अमेरिकी संसद में प्रस्ताव पेश
x

प्रस्ताव में कहा गया है कि सिख और हिंदू अफगानिस्तान के मूल निवासी हैं, लेकिन फिलहाल अस्तित्व के संकट से जूझ रहे हैं। अब दोनों समुदाय के लोगों की संख्या मात्र 700 ही बची है, जबकि कुछ दिनों पहले तक इनकी तादाद आठ हजार से ज्यादा थी। प्रस्ताव में अमेरिकी रिफ्यूजी कार्यक्रम और आव्रजन व राष्ट्रीयता कानून के तहत अफगानिस्तान के सिखों और हिंदुओं को अमेरिका में दोबारा बसाने का समर्थन किया गया है।

अफगानिस्तान में रहने वाले सिखों और हिंदुओं की सुरक्षा पर चिंता व्यक्त करते हुए प्रस्ताव में आतंकवादी हमलों, धार्मिक उत्पीड़न और भेदभाव की निंदा की गई है। प्रस्ताव में मुस्लिम आतंकवादियों द्वारा 25 मार्च को काबुल स्थित गुरद्वारे पर किए गए हमले का भी जिक्र है, जिसमें चार साल की बच्ची समेत 25 श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी। प्रस्ताव में ट्रंप प्रशासन के उस फैसले पर भी अफसोस जताया गया है, जिसमें वित्तीय वर्ष 2020 के लिए मात्र 18,000 शरणार्थियों के पुनर्वास का प्रस्ताव रखा गया है, जबकि ओबामा प्रशासन ने वित्तीय वर्ष 2016 में एक लाख दस हजार लोगों के पुनर्वास का प्रस्ताव रखा था।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it