कोरोना वायरस से मरने वाले लोगों के शव के प्रबंधन को लेकर दिल्ली सरकार ने जारी किया आदेश

file pic

जनता से रिश्ता वेबडेस्क।  नई दिल्ली: दिल्ली सहित देश भर में कोरोना संकट गहराता जा रहा है. जिसके बाद देश के कई हिस्सों से अव्यवस्था की खबर देखने को मिली है. हाल ही में खबर आई थी कि दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव /संदिग्ध मरीजों के शव का दाह संस्कार या निस्तारण नहीं हो रहा है शवों के दाह संस्कार नहीं होने के कारण  दिल्ली के सबसे बड़े कोरोना अस्पताल लोकनायक अस्पताल में मुर्दाघर में शव रखने की जगह उपलब्ध नहीं है. अब शव प्रबंधन को लेकर दिल्ली सरकार की तरफ से आदेश जारी किये गए हैं. अरविंद केजरीवाल सरकार की तरफ से जारी आदेश के अनुसार:

  1. कोरोना पॉजिटिव/ संदिग्ध व्यक्ति की मृत्यु अगर अस्पताल में होती है या उसको मृत अस्पताल में लाया जाता है तो अस्पताल 2 घंटे के भीतर शव को मुर्दाघर में भेजेगा.
  2. अगर मृत व्यक्ति के परिवार वाले मुर्दाघर को 12 घंटे में संपर्क करते हैं तो अस्पताल परिवार वालों और नगर निगम से बात करके अगले 24 घंटे में दाह संस्कार करवाया जाएगा.
  3. अगर व्यक्ति की मौत के 12 घंटे के भीतर उसके परिवार वाले मुर्दाघर से संपर्क नहीं करते तो उसके परिवार वालों को पुलिस (इलाके के SHO) के जरिए सूचना भेजी जाए और नगर निगम से बात करके परिवार को सूचित किया जाए कि दाह संस्कार कब और कहां हो रहा है. जिससे उसके परिवार वाले खुद वहां मौजूद रह सकें. इलाके के थाने के थाना अध्यक्ष यह सुनिश्चित करेंगे कि अस्पताल से जैसे ही उनको संदेश मिले उसके 12 घंटे के भीतर वह परिवार को सूचित कर दें.
  4.  अस्पताल दाह संस्कार का दिन समय और जगह इस तरह से तय करें कि परिवार वालों को कम से कम 24 घंटे मिल जाएं
  5. अगर कोरोना पॉजिटिव/ संदिग्ध का अज्ञात या लावारिस शव मिलता है तो दिल्ली पुलिस 72 घंटे के भीतर सभी कानूनी कार्रवाई पूरी करें और फिर अगले 24 घंटे के अंदर दाह संस्कार करे.
  6. . अगर कोरोना पॉजिटिव/ संदिग्ध का पता दिल्ली से बाहर का है तो मेडिकल डायरेक्टर उस राज्य या केंद्र शासित प्रदेश के रेजिडेंट कमिश्नर को सूचित करें और 48 घंटे के भीतर जवाब देने को कहें. अगर कोई जवाब नहीं आता तो अस्पताल अगले 24 घंटे के भीतर शव का दाह संस्कार कर दे.
  7.  अस्पताल में कोरोना पॉजिटिव/ संदिग्ध व्यक्ति की मौत के बाद या अस्पताल में मृत पाए जाने के बाद उसके शव के दाह संस्कार की जिम्मेदारी अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर की होगी. नगर निगम दाह संस्कार के इंतजाम करेगा.
  8.  मुर्दाघर के इंचार्ज संबंधित अस्पताल के मेडिकल डायरेक्टर या डायरेक्टर को कोरोना पॉजिटिव/ संदिग्ध के शवों दाह संस्कार/निस्तारण की रिपोर्ट देंगे.