Top
COVID-19

खतरे की घंटी: देश की सबसे कम दुर्लभ जनजाति की कुल 53 ही आबादी, 4 लोग हुए कोरोना से संक्रमित

Janta se Rishta
27 Aug 2020 3:20 PM GMT
खतरे की घंटी: देश की सबसे कम दुर्लभ जनजाति की कुल 53 ही आबादी, 4 लोग हुए कोरोना से संक्रमित
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। कोलकाता/नई दिल्ली: भारत के अंडमान निकोबार द्वीप समूह की एक दुर्लभ जनजाति के चार सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित हुए हैं। ग्रेट अंडमानीज जनजाति के इन चार सदस्यों में से दो लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इसके अलावा दो अन्य लोग एक कोविड केयर सेंटर में आइसोलेट किए गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोरोना से संक्रमित हुए ये लोग जिस जनजाति का हिस्सा हैं, उसके सिर्फ 53 लोगों के जीवित होने की बात कही जाती है। ये लोग अंडमान निकोबार द्वीप समूह के एक रिहाइशी आइलैंड के निवासी हैं। चिकित्सकों के अनुसार, इन सभी कोरोना संक्रमित लोगों की हालत फिलहाल स्थिर बनी हुई है।

गंभीर बीमारियों के कारण पहले भी जान गंवा चुके हैं लोग
ग्रेट अंडमानीज नाम की जिस जनजाति के लोग कोविड की चपेट में आए हैं, उसके हजारों लोगों की ब्रिटिश राज में हत्या हो चुकी है। इसके अलावा इस जनजाति के कई लोग गंभीर बीमारियों की चपेट में आने से जान गंवा चुके हैं। हालांकि बेहद दुर्लभ हो चुकी इस जनजाति को संरक्षित करने के लिए सरकार ने यहां पर विकास की तमाम स्कीम्स को पहुंचाने का प्रयास किया है। साथ ही यहां पर हेल्थ फसिलिटी को और प्रभावी तरीके से पहुंचाने के इंतजाम भी हुए हैं।

RT-PCR टेस्ट के बाद हुई पुष्टि
अंडमान निकोबार द्वीप समूह में कोरोना से लड़ने के लिए हुए इंतजाम की निगरानी कर रहे डॉ. अविजित राव ने बताया कि हाल ही में ग्रेट अंडमानीज जनजाति के कई लोगों को कोरोना टेस्ट कराए गए थे। आरटी-पीसीआर टेस्ट के बाद ही इस जनजाति के चार लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई।

सभी की निगरानी, अलर्ट पर अधिकारी

बताया जा रहा है कि 4 लोगों के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद इस जनजाति के शेष लोगों को पोर्ट ब्लेयर के एक विशेष द्वीप पर भेज दिया गया है। मरीजों की निगरानी कर रहे एक अधिकारी ने कहा कि इस जनजाति के लोगों के बीच कोविड का संक्रमण फैलने के कारण अब हमने अपने लोगों को हाई अलर्ट पर रखा है। इसके अलावा यहां पर विशेष नाव और मेडिकल टीम का भी इंतजाम किया गया है, जिससे किसी भी स्थिति में हालत बिगड़ने पर किसी भी मरीज को उचित चिकित्सकीय सहायता दी जा सके।

जून में आया था पहला केस
बता दें कि अंडमान निकोबार द्वीप समूह के पूर्वी इलाके में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमण के 2985 केस दर्ज किए जा चुके हैं। यहां पर पहला केस जून महीने में रिपोर्ट किया गया था। ग्रेट अंडमानीज जनजाति के लोगों के कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि हाल ही में यहां के 53 लोगों की टेस्टिंग के बाद हुई है।

https://jantaserishta.com/news/former-mla-srichand-sundrani-will-be-raipur-district-city-bjp-president/

https://jantaserishta.com/news/uproar-by-corona-patients-at-kovid-hospital-in-raigad-accused-of-not-getting-breakfast-watch-video/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it