छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ मौसम विभाग का अलर्ट: अगले दो-तीन दिनों तक इन इलाकों में तेज बारिश का अनुमान

Janta se Rishta
19 Aug 2020 6:14 AM GMT
छत्तीसगढ़ मौसम विभाग का अलर्ट: अगले दो-तीन दिनों तक इन इलाकों में तेज बारिश का अनुमान
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। रायपुर। प्रदेश में मानसून की गतिविधियां तेज होने के कारण अगले 24 घंटे के दौरान बस्तर और रायपुर संभाग के कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। ज्यादातर जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश होगी। प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान औसत 11.7 मिमी बारिश हो गई। मौसम विभाग ने अगले दो-तीन दिनों तक राज्य में तेज बारिश की चेतावनी जारी की है। प्रदेश के बस्तर, कांकेर, दल्लीराजहरा, बालोद, रायगढ़ तथा कुछ अन्य स्थानों पर मध्यम से भारी बारिश हो सकती है। शेष हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। 19 अगस्त से बंगाल की खाड़ी में तैयार हो रहा कम दबाव का क्षेत्र अगले एक-दो दिन में मजबूत होगा। इससे प्रदेशभर में भारी से अतिभारी बारिश हो सकती है। पिछले दो-तीन दिनों से हो रही बारिश के कारण नदी-नाले उफान पर हैं। राज्य शासन ने सभी जिलों में लोकल एजेंसियों को नदियों के किनारे सुरक्षा संकेतक लगाने और नगर सैनिकों व अन्य सुरक्षा गार्ड की तैनाती के निर्देश दिए हैं। बारिश के दौरान नदियों और बांधों के आसपास पिकनिक मनाने पहुंचने वालों तथा तीज-त्योहारों की वजह से गांव जाने के लिए नदी-नाले पार करने वालों पर ध्यान रखने के निर्देश दिए गए हैं। नदियों के किनारे रेस्क्यू आपरेशन के तमाम संसाधन उपलब्ध रखने के लिए भी कहा गया है ताकि किसी भी आपात स्थिति में तत्काल राहत पहुंचाई जा सके।

राजस्थान से बंगाल तक बन रहा है चक्रवाती घेरा

राजस्थान से लेकर बंगाल की खाड़ी तक सक्रिय चक्रवात के चलते छत्तीसगढ़ के लगभग सभी जिलों में मंगलवार को बादल छुमड़ते रहे। ठंडी हवाओं के चलते मौसम सुहाना बना रहा। राजधानी को छोड़कर कुछ इलाकों में हल्की और मध्यम बारिश भी हुई। आसमान में बन रहे तीन चक्रवाती घेरों को देखते हुए मौसम विभाग ने बुधवार को प्रदेश के एक या दो स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग के मुताबिक राजस्थान के बीकानेर, अलवर, उत्तर प्रदेश के बांदा, मध्य प्रदेश के ग्वालियर, रांची, बनकुरा, कनिंग और उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई पर चक्रवात बन रहा है। एक अन्य ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा उत्तर पूर्व मध्य प्रदेश और उसके आसपास 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। इसके अलावा तीसरा चक्रीय चक्रवाती घेरा 5.8 किलोमीटर से 7.6 किलोमीटर ऊपर उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी और उसके आसपास बना हुआ है। मौसम वैज्ञानिक एचपी चंद्रा के अनुसार इन चक्रवातों के बनने से 19 अगस्त को प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश या गरज चमक के साथ छींटे पडऩे की संभावना है। एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है। प्रदेश में मुख्य रूप से दक्षिणी भाग यानी बस्तर की ओर भारी बारिश की ज्यादा संभावना है।

इन स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश : रायपुर को छोड़ प्रदेश के मुंगेली में 14 सेमी, तखतपुर में 13, बोइला 10, कवर्धा 9, लोरमी में 8, पंडरिया व सहसपुर लोहारा 5, जैजेपुर, मालखरौदा, भैरमगढ़ में 4 सेमी, कोटा व जनकपुर में 3, भोपालपट्टनम, पखांजुर, छुईखदान, उसूर, बीजापुर, तिल्दा, डौंडी, मनेद्रगढ़ में 4, अंतागढ़, बैकुंठपुर, सीतापुर में एक-एक सेमी वर्षा दर्ज की गई है। बता दें इन स्थानों पर लगातार बारिश से नदी और नाले उफान पर हैं।

खारुन नदी का जल स्तर भी बढ़ा

शहर की जीवन रेखा कही जाने वाली खारुन नदी भी उफान पर है। इस नदी में छोटे-बड़े सैकड़ों नाले और नालियों का पानी गिरता है। इसमें रायपुर के सीमावर्ती जिलों के नालों का पानी भी आ रहा है। इससे नदी का जल स्तर बढ़ गया है।

https://jantaserishta.com/news/demand-for-stalls-small-idols-arrived-in-stalls-for-sale/

https://jantaserishta.com/news/service-road-of-expressway-from-phapadih-to-pandri-starts-from-today-parliamentary-secretary-upadhyay-took-stock/

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta