भारत

टूटा 23 सीनियर कांग्रेस नेताओं के सब्र का बांध: कांग्रेस पार्टी में बड़े बदलाव के लिए लिखी सोनिया गांधी को चिट्ठी...जानिए क्या कहा

Janta se Rishta
23 Aug 2020 6:34 AM GMT
टूटा 23 सीनियर कांग्रेस नेताओं के सब्र का बांध: कांग्रेस पार्टी में बड़े बदलाव के लिए लिखी सोनिया गांधी को चिट्ठी...जानिए क्या कहा
x

कांग्रेस पार्टी में अप्रत्याशित रूप से बड़े फेरबदल की मांग की जा रही है. कांग्रेस में बदलाव की मांग करते हुए सीडब्ल्यूसी सदस्यों, पार्टी सांसदों और पूर्व मंत्रियों सहित पार्टी के शीर्ष 23 नेताओं ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है.

सूत्रों ने बताया कि कांग्रेस कार्यसमिति (सीडब्ल्यूसी) की सोमवार को बैठक होने की संभावना है. इस बैठक में संगठनात्मक मुद्दों पर चर्चा की जाएगी. माना जा रहा है कि मीटिंग के केंद्र में यही पत्र रहेगा. यह पत्र दो सप्ताह पहले ही कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखा गया था.

पत्र में साफ तौर पर कहा गया है कि पार्टी को संचालित करने के लिए प्रभावी केंद्रीय नेतृत्व के साथ-साथ एक क्लीयर कट मैकेनिज्म होना चाहिए. इसे सक्रिय होना चाहिए और इसका असर जमीन पर नजर आना चाहिए.

पत्र में सीडब्ल्यूसी में फिर चुनाव कराने और नए सिरे से जिम्मेदारी तय करने की मांग की गई है. इसके लिए एक प्रभावी सामूहिक प्रणाली की स्थापित करने की मांग की है.

सूत्रों के मुताबिक पत्र में जोर दिया गया है कि कांग्रेस का पुनरुत्थान 'एक राष्ट्रीय अनिवार्यता' है, जो लोकतंत्र के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है, और यह बताता है कि पार्टी में उस समय गिरावट दिख रही है जब पार्टी को आजादी के बाद राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक मोर्चे पर कड़ी चुनौतियां का सामना करना पड़ रहा है.

CWC की भूमिका पर सवाल

सूत्रों ने यह भी बताया कि बीजेपी का कैसे उत्थान हुआ और युवा कैसे उसका समर्थन कर रहे हैं, ये भी चर्चा का विषय है. पत्र में ब्लॉक स्तर से लेकर सीडब्ल्यूसी तक सभी स्तरों पर संगठनात्मक बदलावों की मांग की गई है. पत्र में सीडब्ल्यूसी की तीखी टिप्पणी की गई है और कहा गया है कि यह कैसे अपनी भूमिका सही से नहीं निभा पा रही है. बैठकें दुर्लभ हो गई हैं और राजनीतिक घटनाक्रम पर प्रतिक्रियाएं काफी देरी से आती हैं. कुलमिलाकर पत्र में यह कहा गया है कि सीडब्ल्यूसी मुसीबत के समय पार्टी का मार्गदर्शन करने में असमर्थ रही है.

किन नेताओं ने उठाए सवाल

बताया जा रहा है कि पत्र पर गुलाम नबी आज़ाद, कपिल सिब्बल, आनंद शर्मा, जितिन प्रसाद, मिलिंद देवड़ा, मनीष तिवारी, राज बब्बर, अरविंदर सिंह लवली, संदीप दीक्षित सहित कांग्रेस के अन्य युवा ब्रिगेड ने हस्ताक्षर किए हैं. इसमें कहा गया है कि राज्य इकाइयों को सशक्त किया जाना चाहिए और पावर सेंटर पर ट्रिक डाउन इफेक्ट होना चाहिए. पार्टी को दिल्ली में केंद्रीकृत नहीं किया जाना चाहिए.

https://jantaserishta.com/news/family-discord-tired-of-quarreling-with-wife-husband-becomes-eunuch-know-what-happened-next/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it