लापता फैक्ट्री मालिक का शव गंग नहर में मिला, दोस्तों ने मामूली बात पर की हत्या… 2 आरोपी गिरफ्तार | जनता से रिश्ता

file pic

जनता से रिश्ता वेबडेस्क । ग्रेटर नोएडा, दोस्त को नपुंसक कह कर छींटाकशी करने पर फैक्ट्री मालिक आदित्या सोनी के तीन साथियों को इतना गुस्सा आया कि तीनों ने मिलकर पहले डंडे से उसे पीटा और फिर गला घोंटकर उसकी हत्या कर शव को गंग नहर में फेंक दिया.

कासना थाना पुलिस ने शव मथुरा के पास गंग नहर से बरामद कर उसके दो दोस्तों को गिरफ्तार किया है. आरोपियों का एक साथी फरार है. पुलिस उसकी तलाश में है. पुलिस ने आरोपियों के पास से मृतक का मोबाइल, सोने की चेन आदि सामान बरामद किया है.

ओमीक्रान-1 सेक्टर स्थित गौड़ अतुल्यम सोसाइटी निवासी आदित्य सोनी (22) के पिता की मृत्यु हो चुकी थी, जिसके बाद आदित्य ही फैक्ट्री चलाते थे. फैक्ट्री में ऑटो पार्ट्स फिनिशिंग का काम होता है.

परिजनों का कहना है कि पांच जुलाई को आदित्य फैक्ट्री गए थे. तभी उन्हें दिल्ली के फोर्टिस अस्पताल में चाचा की मौत की सूचना मिली. इसके बाद उन्होंने अपनी मां व अन्य रिश्तेदारों को दिल्ली जाने की जानकारी कॉल और मेसेज से दी. लेकिन आदित्य न तो दिल्ली पहुंचा और न ही वापस घर लौटा.

इस संबंध में आदित्य की मां नीलू ने कासना कोतवाली में आदित्य की गुमशुदगी  की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी. पुलिस ने मामले की जांच पड़ताल शुरू की तो पता चला कि आदित्य को उसके दोस्तों के साथ देखा गया था. पुलिस ने शक के आधार पर आदित्य के दो दोस्त देव और पंकज को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो आरोपियों ने सच उगल दिया.

डीसीपी ग्रेटर नोएडा जोन राजेश कुमार सिंह ने बताया कि वारदात में गौड़ अतुल्यम सोसाइटी और उसी के ब्लॉक में रहने वाले देव भाटी और उसके भाई पंकज भाटी को गिरफ्तार किया गया है. जबकि इनका एक साथी सनी फरार है. तीनों आरोपी आदित्य के साथी हैं. इन्होंने पांच जुलाई की रात एक साथ पार्टी की थी. देव की पिछले माह शादी हुई थी. पार्टी के दौरान मजाक में आदित्य ने उसे नपुंसक कह दिया. इस बात पर देव और अन्य भड़क गए. आरोप है कि तीनों ने पहले आदित्य को डंडे से पीटा और फिर गला दबाकर हत्या कर दी. आरोपियों ने ब्रेजा कार से शव मंडी श्यामनगर क्षेत्र में जमालपुर के पास नहर में फेंक दिया.

वहीं, एक पुराना शव मथुरा के बलदाऊ से बरामद किया गया. जिसकी परिजनों ने आदित्य के रूप में पहचान कर ली. आदित्य की लूटी गई शेवरले कार, सोने की चेन, अंगूठी, कड़ा, राडो घड़ी बरामद किए गए हैं.

डीसीपी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि आरोपी देव और पंकज दोनों सगे भाई हैं. दोनों उसी सोसाइटी में रहते हैं, जिसमें आदित्य रहता था जिसके चलते इनके बीच दोस्ती थी. 5 जुलाई को आदित्य और आरोपियों के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हुई थी. पुलिस इस मामले में फरार आरोपी सनी की तलाश में जुटी है.