भारत

गन्ना भुगतान की मांग को लेकर बीकेयू ने किया प्रदर्शन...

Janta se Rishta
17 Aug 2020 2:49 PM GMT
गन्ना भुगतान की मांग को लेकर बीकेयू ने किया प्रदर्शन...
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजनीति किसानों पर निर्भर करती है. इस नीति को लेकर ही यूपी में बीजेपी सरकार बनी थीं. जिसमें यूपी सरकार ने किसानों के गन्नों के भुगतान का समय 14 दिन निर्धारित किया था. यूपी में बीजेपी सरकार को बने 3 साल का समय हो चुका है आज भी किसान अपने बकाया गन्ना भुगतान को लेकर धरना प्रदर्शन करने को मजबूर हैं. भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने आज सैंकड़ो कार्यकर्ताओं के साथ थाना भवन का घेराव करते हुए धरना प्रदर्शन किया. शामली में किसानों का तीनों शुगर मिलों पर 700 करोड़ रुपये बकाया है.

वहीं जिस थाने में बीकेयू द्वारा गन्ने के भुगतान को लेकर धरना दिया गया वह यूपी सरकार में केबिनेट मंत्री व गन्ना राज्यमंत्री सुरेश राणा का गृह क्षेत्र भी है. राकेश टिकैत अपने सैंकड़ों कार्यकर्ताओं को लेकर ढोल नगाड़ों के संग थानाभवन थाने में पहंचे. उन्होंने जनपद शामली के किसानों के बकाया गन्ना भुगतान की मांग उठाई. वही उत्तर प्रदेश की बीजेपी सरकार ने 14 दिन के अंदर किसानों के बकाया गन्ना भुक्तान का वादा किया था. लेकिन किसानों पर राजनीति कर अपनी राजनीति चमकाने वाली बीजेपी सरकार अपने ही वादे पर झूठी साबित हो रही है.

उत्तर प्रदेश में बीजेपी सरकार को बने हुए लगभग 3 वर्ष का समय हो चुका है लेकिन अभी तक भी किसानों के गन्ने का बकाया भुगतान नहीं हो पाया है. इतना ही नहीं किसानों के बकाए गन्ने के भुगतान पर जो ब्याज सरकार द्वारा दिया जाता है वह भी अभी तक किसानों को नहीं दिया गया है. जनपद शामली में तीन शुगर मिलें हैं जिनमें बजाज शुगर मिल थानाभवन, सर सादी लाल शुगर मिल शामली ओर गोगर शुगर मिल ऊन शामिल है. इन तीनों मिलों पर शामली के किसानों का लगभग 700 करोड रुपए बकाया है.

थानाभवन थाने में बकाया गन्ना भुगतान को लेकर धरना दे रहे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत का कहना है कि उत्तर प्रदेश सरकार ने किसानों के गन्ना भुगतान को लेकर जो एक्ट बनाया है उस के तहत 14 दिन के अंदर गन्ने का भुगतान करने का दावा किया गया है. अगर एक्ट के अनुसार सरकार ऐसा नहीं करती है तो उसके तहत उसे किसान को 15% ब्याज देना होगा. टिकैत ने कहा कि हमारी सरकार से यही मांग है कि सरकार गन्ना भुगतान एक्ट के अनुसार किसानों के गन्ने का बकाया भुगतान करें. शामली के किसानों का लगभग 700 करोड़ रुपये बकाया है. सरकार आज हमारे किसानों का ब्याज के साथ गन्ने का भुगतान करे. यही मांग लेकर आज थाने में धरना दिया जा रहा है. जब तक हमारी मांग पूरी नही होगी तब तक धरना प्रदर्शन जारी रहेगा.

https://jantaserishta.com/news/the-mob-in-birbhum-caused-a-ruckus-the-wall-collapsed-in-vishwa-bharati-university/

https://jantaserishta.com/news/bjp-president-jp-nadda-attacked-rahul-gandhi-and-congress-fiercely-saying-your-career-is-only-based-on-spreading-fake-news/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it