सावधान : आपकी किडनी को खराब कर सकती हैं ये 8 चीजें

file photo

जनता से रिश्ता वेबडेस्क  शरीर के सभी अंगों की तरह किडनी भी बहुत महत्वपूर्ण अंग है. किडनी खराब होने से कई तरह की परेशानियों और बीमारियों को सामना करना पड़ता है. शरीर को स्वस्थ रखने में किडनी की अहम भूमिका है. गलत खान-पान की वजह से किडनी खराब हो जाती है. आजकल किडनी के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. आइए जानते है उन फूड आइटम्स के बारे में जो किडनी के लिए खतरनाक हैं

रेड मीट

रेड मीट में बहुत प्रोटीन पाया जाता है, जो हमारे शरीर और मांसपेशियों के लिए तो अच्छा है पर किडनी के लिए इसे खतरनाक माना गया है. रेड मीट में काफी मात्रा में फैट पाया जाता है जो किडनी के लिए सही नहीं है. रेड मीट के ज्यादा इस्तेमाल से बॉडी में यूरिक एसिड बढ़ जाता है

अल्कोहल

ज्यादा शराब यानी अल्कोहल किडनी को डैमेज करती है. ज्यादा शराब किडनी के फंक्शन को ही बदल देती है जिसका असर दिमाग पर भी पड़ता है. अल्कोहल बहुत डिहाइड्रेटिंग होती है वहीं किडनी के साथ शरीर के अन्य अंगों के लिए भी पानी बहुत जरूरी होता है. अगर आपने थोड़ा भी अल्कोहल पिया है तो इसके बाद ढेर सारा पानी पिएं

नमक

सोडियम एक ऐसा जरूरी इनग्रेडिएंट है जो हमारे शरीर में द्रव संतुलन बनाए रखने में मदद करता है. पोटेशियम के साथ मिलकर सोडियम हमारे ब्लड को किडनी के माध्यम से फिल्टर करता है. लेकिन जब आपके खाने में बहुत अधिक नमक होता है, इसे पतला करने के लिए किडनी को अधिक पानी की जरूरत होती है जिसकी वजह से ब्लडप्रेशर का भी खतरा बढ़ जाता है

कैफीन

कॉफी में काफी मात्रा में कैफीन पाई जाती है. अक्सर लोग सुबह फ्रेश होने के लिए कॉफी पीते हैं. कुछ लोग इसे पीकर ताजगी और एनर्जी महसूस करते हैं तो वहीं कुछ लोग इसे स्वाद की वजह से पीते हैं. कैफीन के ज्यादा इस्तेमाल से बॉडी में ब्लडप्रेशर का खतरा बढ़ जाता है जो किडनी के लिए खतरनाक है

सोडा और एनर्जी ड्रिंक

सोडा और एनर्जी ड्रिंक पीने में अच्छे लगते हैं और इनसे एनर्जी भी मिलती है. पर ये ड्रिंक सेहत के लिए खतरनाक भी हैं. सोडा और एनर्जी ड्रिंक पीने से कोई स्वास्थ्य लाभ नहीं है, इसलिए उन्हें अपने आहार से दूर ही रखें तो अच्छा होगा. इन ड्रिंक्स में बस कैफीन और चीनी के साथ कुछ खतरनाक कलर और केमिकल पाए जाते हैं

आर्टिफिशियल स्वीटनर्स

आर्टिफिशियल स्वीटनर्स, जैसे कि जो डाइट सोडा में पाए जाते हैं, वो सिर्फ सीधे रूप से चीनी पर निर्भरता को कम करते हैं. लेकिन स्टडीज से पता चलता है कि आर्टिफिशियल स्वीटनर्स किसी भी तरह से चीनी का विकल्प नहीं है बल्कि उसमें चीनी जैसे ही तत्व पाए जाते हैं. ये बस दिमाग को समझाने जैसा है कि आपने कुछ भी ऐसा नहीं खाया या पिया है जिसमें चीनी मिली हो

डेयरी प्रोडक्ट

डेयरी प्रोडक्ट कैल्शियम और अन्य पोषक तत्वों के साथ-साथ प्रोटीन से भरपूर होते हैं. ये आपके आहार के लिए लाभदायक हैं, लेकिन इसका अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए. ज्यादा कैल्शियम किडनी की पथरी का कारण बन सकता है. स्टडी से पता चला है कि किडनी की बीमारी वाले लोगों अगर डेयरी प्रोडक्ट को सीमित मात्रा में लेते हैं तो उन्हें जल्दी डायलिसिस की जरूरत नहीं पड़ती है

नॉन ऑर्गेनिक फूड

नॉन ऑर्गेनिक फूड या डिब्बाबंद खाना शरीर के लिए जहर की तरह है. इन खानों में पेस्टीसाइड्स का इस्तेमाल होता है जो किडनी के लिए खतरनाक हैं. जबकि ऑर्गेनिक फूड में किसी भी तरह के केमिकल्स या पेस्टीसाइड्स का इस्तेमाल नहीं किया जाता है