घरेलू मैचों को गुवाहाटी शिफ्ट करने को लेकर BCCI राजस्थान रॉयल्स के साथ…| जनता से रिश्ता

file pic


जनता से रिश्ता वेबडेस्क | राजस्थान रॉयल्स के घरेलू मैचों को गुवाहाटी शिफ्ट करने की चुनौती देने वाली याचिका पर गुरुवार को अपना फैसला सुना सकता है. इस बीच बीसीसीआई ने राजस्थान रॉयल्स का समर्थन करते हुए स्पष्ट रूप से कहा है कि घरेलू मैचों के अनुरोध को लेकर उन्होंने किसी भी तरह के नियमों का उल्लंघन नहीं किया है. इस मामले में आईपीएल के नियमों की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने बातचीत में कहा कि आईपीएल के नियम किसी भी फ्रेंचाइजी को अपने तीन घरेलू मैचों को दूसरे स्थान पर ले जाने की अनुमति देता है, लेकिन इसके लिए आईपीएल कार्यकारी परिषद की मंजूरी मिलनी जरूरी है.

तीन घरेलू मैच दूसरे स्थान पर खेलने का नियम
सूत्रों ने कहा, ‘नियम साफ कहता है कि अगर आपके पास आईपीएल कार्यकारी परिषद की मंजूरी है तो आप अपने तीन घरेलू मैच दूसरे स्थान पर खेल सकते हैं. इसलिए राजस्थान रॉयल्स कुछ ऐसा नहीं कर रही है, जोकि नियमों के खिलाफ हो.’ इस बारे में जब फ्रेंचाइजी के अधिकारी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि मैचों को गुवाहाटी शिफ्ट करने का कदम कई कारणों को ध्यान में रखकर उठाया गया है. उन्होंने साथ ही कहा कि यह सिर्फ अधिक राजस्व हासिल करने के मकसद से नहीं किया गया है.

पूर्वोत्तर में राजस्थान मूल के लोग हैं
उन्होंने कहा, ‘इस बात से कोई इनकार नहीं करता है कि राजस्व एक चिंता का विषय है, लेकिन गुवाहाटी में मैचों को शिफ्ट करने का यह कोई एक कारण नहीं है. हम इस खेल को पूर्वोत्तर में भी फैलाने की कोशिश कर रहे हैं. गुवाहाटी में हमारे पास राजस्थान मूल के बहुत सारे लोग हैं. हमें लगता है कि उन्हें अपने पसंदीदा खिलाड़ियों को एक्शन में देखने का यह एक अच्छा विचार होगा.’

अकादमी भी शुरू करने पर विचार
अधिकारी ने कहा, ‘इसके अलावा हम पूर्वोत्तर में जमीनी स्तर पर भी काम कर रहे हैं और आने वाले समय में आप को वहां हमारे द्वारा शुरू की जा रही अकादमी देखने को मिल सकता है. इसलिए, हम इस खेल को वहां के स्थानीय लोगों तक ले जाना चाहते हैं और अपने लोकल हीरो रियान पराग को भी नहीं भूलना चाहते. हमारे पास किसी के खिलाफ करने को कुछ भी नहीं है. हम सकारात्मक हैं और हमें उम्मीद है कि अदालत यह समझेगी कि हम अपने खेल को जयपुर से गुवाहाटी ले जाकर किसी के भी भावना को ठेस पहुंचाने की कोशिश नहीं कर रहे हैं.’