ऑस्ट्रेलिया की प्रमुख एयरलाइन क्वांटस ने दुनिया की सबसे लंबी उड़ान का सफल परीक्षण किया

जनता से रिश्ता वेबडेस्क:-ऑस्ट्रेलिया की प्रमुख एयरलाइन क्वांटस ने दुनिया की सबसे लंबी उड़ान का सफल परीक्षण किया है. 49 यात्रियों और चालक दल के सदस्यों के साथ न्यूयॉर्क और सिडनी के बीच की यात्रा विमान ने 19 घंटे 16 मिनट में पूरी की.क्वांटस की क्यूएफ 7879 उड़ान के लिए विमान ने न्यूयॉर्क के जॉन एफ केनेडी एयरपोर्ट से शुक्रवार की रात को उड़ान भरी और सिडनी के किंग्सफोर्ड स्मिथ एयरपोर्ट पर रविवार सुबह उतरा. विमान ने कुल 16,200 किलोमीटर का सफर तय किया. फिलहाल सिंगापुर एयरलाइन दुनिया की बिना रुके सबसे लंबी उड़ान सेवा मुहैया कराती है. यह सेवा सिंगापुर से नेवार्क के बीच है जिसमें 18.5 घंटे का समय लगता है. क्वांटस ने इस लंबी यात्रा के परीक्षण उड़ान के लिए बोइंग 787-9 ड्रीमलाइनर को खास तौर से तैयार करवाया था. विमान बिना रुके निर्बाध तरीके से उड़ान भर सके, इसके लिए विमान में अधिकतम ईंधन भरा गया, यात्रियों और उनके सामान की संख्या सीमित रखी गई और इसमें कोई माल ढुलाई नहीं की गई. क्वांटस का कहना है कि इस उड़ान से होने वाले कार्बन उत्सर्जन को घटाने के लिए उपाय किए जाएंगे. विमान में सवार 49 यात्रियों में क्वांटस के एग्जिक्यूटिव, रिसर्चर, पत्रकार और क्रू के सदस्य शामिल थे. उड़ान के दौरान लोगों के स्वास्थ्य पर पड़ने वाले असर को देखने के लिए कई प्रयोग किए गए.

क्वांटस ग्रुप के चीफ एग्जिक्यूटिव एलन जॉयस ने सिडनी पहुंचे के बाद कहा, “यह विमानन के लिए एक महत्वपूर्ण पहल है. उम्मीद है कि यह ग्लोब के एक हिस्से से दूसरे हिस्से तक लोगों की यात्रा को तेज करने के लिए नियमित सेवा की समीक्षा है.” जॉयस का कहना है कि क्वांटस की न्यूयॉर्क से सिडनी के लिए नियमित सेवा है जो लास एंजेल्स में रुकते हुए जाती है. उसने नॉन स्टॉप फ्लाइट से तीन घंटे पहले उड़ान भरी थी लेकिन वह महज कुछ ही मिनटों पहले अपनी मंजिल पर पहुंची.
हेल्थ रिसर्चरों ने पायलट और चालक दल के दूसरे सदस्यों के साथ ही यात्रा में शामिल छह वालंटियरों के दिमाग की गतिविधियों, मिलेटोनिन के स्तर और सजगता पर निगरानी रखी और विमान में ही उनसे कसरत भी कराई गई. विमान सिडनी के समय से चल रहा था इसलिए यात्रियों से कहा गया कि वो पहले छह घंटे तक जगे रहें ताकि जेटलैग को कम करने में मदद मिल सके. इसके अलावा उन्हें रोशनी से भरे केबिन में मसालेदार खाना खिलाया गया. सुबह उतरने से पहले उन्हें क्रीमयुक्त और कार्बोहाइट्रेड वाला भोजन हल्की रोशनी में दिया गया ताकि उन्हें सिडनी में हो रहे रात के समय का अहसास हो.

क्वांटस ने बताया कि उड़ान से पहले कई महीने तक इसकी योजना बनाई गई ताकि उड़ान का सबसे उपयुक्त रास्ता चुना जा सके. इतना ही नहीं, हर रोज के मौसम और हवा की रफ्तार के बारे में भी पर्याप्त जानकारी जुटाई गई.क्वांटस एयरलाइन ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी तट के शहरों सिडनी, मेलबर्न और ब्रिस्बेन को 2022 तक न्यूयॉर्क और लंदन से सीधे जोड़ने की योजना बना रही है. इससे यात्रियों का करीब चार घंटे का समय बच सकेगा. बीते साल ही क्वांटस ने पर्थ और लंदन के बीच उड़ान सेवा शुरू की जो ऑस्ट्रेलिया और यूरोप को जोड़ने का अकेला सीधा रास्ता है.