Top
विश्व

अमेरिकी पुलिस ने अश्वेत शख्स को कई बार मारी गोली, भारी विरोध के बाद कर्फ्यू

Janta se Rishta
24 Aug 2020 11:50 AM GMT
अमेरिकी पुलिस ने अश्वेत शख्स को कई बार मारी गोली, भारी विरोध के बाद कर्फ्यू
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। वॉशिंगटन: अमेरिकी राज्य विस्कॉन्सिन में एक अफ्रीकी-अमेरिकी शख्स को पुलिस ने कई बार गोली मारी। गंभीर रूप से घायल शख्स को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। यह जानकारी मीडिया रिपोर्टों में दी गई। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, रविवार को केनोशा शहर में जब यह घटना हुई, तब पुलिस एक घरेलू घटना के बारे में कॉल का जवाब दे रही थी।

सोशल मीडिया पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में उस शख्स को दिखाया गया है, जिसकी पहचान विस्कॉन्सिन के गवर्नर टोनी एवर्स ने जैकब ब्लेक के रूप में की है। वीडियो में सफेद शर्ट और काले रंग के शॉर्ट्स पहना वह शख्स ग्रे रंग की गाड़ी की ओर बढ़ रहा है, जिसके पीछे दो पुलिस अधिकारी हाथों में बंदूक थामे चलते नजर आएं। ब्लेक ने जैसे ही गाड़ी के अंदर बैठने के लिए दरवाजा खोला, एक अधिकारी ने उसकी कमीज पकड़ ली, फिर उस पर करीब से ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं।

https://twitter.com/Koma_Flemmings/status/1297802961838645248?ref_src=twsrc^tfw|twcamp^tweetembed|twterm^1297802961838645248|twgr^&ref_url=https://navbharattimes.indiatimes.com/world/america/kenosha-shooting-us-black-man-killed-by-police-curfew-after-heavy-protest/articleshow/77720140.cms

स्थानीय मीडिया ने स्थानीय निवासियों के हवाले से बताया कि सात बार गोली चलने की आवाज सुनी गई। घटनास्थल पर लोगों की भीड़ जुट गई। वीडियो में पुलिस वाहनों पर लोगों को लात मारते हुए दिखाया गया है। इस घटना के बाद, रविवार देर रात तक लगभग 100 लोगों की भीड़ केनोशा काउंटी पब्लिक सेफ्टी बिल्डिंग में पहुंच गई, और ‘नो जस्टिस, नो पीस’ के नारे लगाने लगी। केनोशा काउंटी ने सोमवार सुबह 7 बजे तक के लिए आपातकालीन कर्फ्यू घोषित कर दिया।

केनोशा पुलिस के अनुरोध पर विस्कॉन्सिन स्टेट पेट्रोल और केनोशा काउंटी शेरिफ डेप्युटी घटनास्थल पर पहुंचे, क्योंकि गोली मारने की घटना में एक पुलिस अधिकारी शामिल है। यूएसए टुडे के मुताबिक, सोमवार को एक बयान में कहा गया कि विस्कॉन्सिन डीओजे ने कहा है कि घटना से जुड़े अधिकारियों को प्रशासनिक अवकाश पर रखा गया था।

बयान के मुताबिक, राज्य का आपराधिक जांच विभाग मामले की जांच कर रहा है और ‘अभियोजक को 30 दिनों के भीतर घटना की रिपोर्ट मुहैया कराएगा।’ गौरलतब है कि इससे पहले मई में मिनेसोटा में पुलिस हिरासत में जॉर्ज फ्लॉयड नाम के एक निहत्थे अफ्रीकी-अमेरिकी की एक पुलिस अधिकारी ने अपने घुटनों से उसकी गर्दन दबाकर हत्या कर दी थी, जिसके बाद अमेरिका भर में जगह-जगह विरोध प्रदर्शन हुए थे।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it