Top
विश्व

America-Russia Tension: अमेरिका रूस को चौतरफा घेरने की तैयारी में जुटा...सीमा पर परमाणु बॉम्‍बर कर रहा तैनात

Janta se Rishta
12 Sep 2020 9:36 AM GMT
America-Russia Tension: अमेरिका रूस को चौतरफा घेरने की तैयारी में जुटा...सीमा पर परमाणु बॉम्‍बर कर रहा तैनात
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। मास्‍को| अमेरिका और रूस के बीच तनाव गहराता जा रहा है। पिछले कुछ महीनों से दोनों ही देश एक-दूसरे के एयरस्‍पेस के पास लगातार फाइटर जेट भेज रहे हैं। उधर, अमेरिका ने पूर्वी और पश्चिमी दोनों ही तरफ रूसी सीमा के पास परमाणु बॉम्‍बर तैनात कर दिया है जिससे दोनों के बीच तनाव काफी बढ़ गया है। रूस को यह डर सता रहा है कि नाटो के साथ मिलकर अमेरिका उसके ऊपर हमले की तैयारी कर रहा है।

अमेरिका ने रूस के पूर्वी और पश्चिमी दोनों ही हिस्‍सों की ओर बॉम्‍बर भेजकर अपना दबाव तेज कर दिया है। इस बीच व‍िश्‍लेषकों का कहना है कि अमेरिका अपने फाइटर जेट को भेजकर हमला करने के लिए रूसी ठिकानों की पहचान कर रहा है। रूसी सीमा पर अमेरिकी जासूसी विमानों की बढ़ती संख्‍या से भड़के रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू ने कहा कि आकाश में अमेरिकी गतिविधि खतरनाक है।

रूसी रक्षा मंत्री की चेतावनी के बाद भी अमेरिकी बॉम्‍बर्स का रूसी सीमा के पास गश्‍त लगाना जारी है। गुरुवार को ही अमेरिकी वायुसेना ने अपना परमाणु बॉम्‍बर B-1 लांसर बॉम्‍बर पूर्वी साइ‍बेरियाई समुद्र में भेजा। रूस और अमेरिका के बीच Black Sea में भी तनाव गहराता हुआ नजर आ रहा है। अमेरिका के 3 B-52 बॉम्बर्स दिखने पर रूस ने अपने 8 फाइटर जेट उन्हें इंटरसेप्ट करने को लगा दिए।

रूस के राष्ट्रीय डिफेंस कंट्रोल सेंटर ने शुक्रवार को बताया कि रूस के रेडार ने 3 B-52N बॉम्बर्स को डिटेक्ट किया। ये रूस के एयरस्पेस में दाखिल हुए थे। मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया, '4 Su-27 फाइटर जेट और 4 Su-30 फाइटर जेट अमेरिकी वायुसेना के एयरक्राफ्ट को इंटरसेप्ट करने के लिए लगाए गए। ये जेट Black Sea और Sea of Azov में देखे गए थे।' यह जानकारी भी दी गई कि अमेरिका के जहाजों के सीमा पीछे हटने के बाद रूस के जेट भी लौट आए। दावा किया गया है कि अमेरिका के एयरक्राफ्ट को रूस की सीमा में दाखिल होने नहीं दिया गया।

US-यूक्रेन ने की ट्रेनिंग

वहीं, अमेरिका के यूरोपियन कमांड ने जानकारी दी कि 3 अमेरिकी वायुसेना के B-52 जेट्स ने यूक्रेन के फाइटर्स के साथ यूक्रेन के एयरस्पेस में ट्रेनिंग की थी। इससे पहले नॉर्थ अमेरिकन एयरोस्पेस डिफेंस कमांड (NORAD) ने F-22 फाइटर एयरक्राफ्ट लॉन्च किए। तीन समूहों में दो-दो Tu-142 रूसी समुद्र पट्रोल एयरक्रफ्ट को इंटरसेप्ट करने के लिए इन्हें लॉन्च किया गया।

https://jantaserishta.com/news/corona-virus-was-made-in-wuhan-lab-of-china-scientists-who-have-fled-to-america-have-evidence/

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it